रांची विश्वविद्यालय के दीक्षांत समारोह में आयेंगे राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद
Latest News
bookmarkBOOKMARK

रांची विश्वविद्यालय के दीक्षांत समारोह में आयेंगे राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद

By Prabhatkhabar calender  31-Aug-2019

रांची विश्वविद्यालय के दीक्षांत समारोह में आयेंगे राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद

रांची विवि के दीक्षांत समारोह में शामिल होने के लिए राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने स्वीकृति दे दी है. राष्ट्रपति भवन से इसकी सूचना राजभवन को दे दी गयी है. संभावना है कि दीक्षांत समारोह 28 से 30 सितंबर के बीच होगा. 
राष्ट्रपति झारखंड में दो दिनों तक रहेंगे. समारोह को लेकर शुक्रवार को रांची विवि के कुलपति डॉ रमेश कुमार पांडेय ने अधिकारियों के साथ बैठक की. लगभग दो घंटे तक चली बैठक में समारोह के सफल संचालन के लिए लगभग 15 कमेटियों का गठन किया गया. समारोह के आयोजन के लिए विवि ने लगभग 32 लाख रुपये के बजट का प्रस्ताव तैयार किया है. 
पिछले वर्ष लगभग 25 लाख रुपये का बजट तैयार किया गया था. समारोह मोरहाबादी स्थित दीक्षांत मंडप में होगा. इस समारोह में स्नातकोत्तर के 2017-19 के विवि टॉपर को गोल्ड मेडल दिये जायेंगे. सभी उत्तीर्ण विद्यार्थियों को डिग्री दी जायेगी. सत्र 2016-19 के स्नातक के विवि टॉपर को गोल्ड मेडल दिये जायेंगे, जबकि स्नातक के विद्यार्थियों की डिग्री की स्वीकृति दी जायेगी.
कश्मीर: 'राज्यपाल जो भी बोल रहे हैं वो झूठ है'
राज्यपाल और मुख्यमंत्री भी होंगे शामिल 
समारोह में राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू, मुख्यमंत्री रघुवर दास भी रहेंगे. राजभवन की तरफ से भी विवि को आवश्यक तैयारी करने का निर्देश दिया गया है. इस समारोह में विद्यार्थी पारंपरिक परिधान में ही गोल्ड मेडल व डिग्री प्राप्त करेंगे.
 
मुख्यमंत्री और स्वास्थ्य सचिव से मिलेंगे डॉक्टर
 
रांची : राज्य आइएमए, झारखंड हेल्थ सर्विसेज एसोसिएशन, हॉस्पिटल बोर्ड, आइएमए वीमेन विंग और जेडीए पदाधिकारियों की संयुक्त बैठक गुरुवार रात आइएमए भवन में हुई. इसमें निर्णय लिया गया कि डॉक्टरों का एक संयुक्त प्रतिनिधिमंडल मंगलवार को स्वास्थ्य सचिव से मिलेगा. 
 
मेडिकल प्रोटेक्शन एक्ट को लेकर ये लोग मुख्यमंत्री से भी मिलेंगे. इसके लिए समय मांगा गया है. बैठक में निर्णय लिया गया कि प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड और वेस्ट डिस्पोजल के प्रमाण पत्र में व्यावहारिक दिक्कतें आ रही हैं. राज्य में अब तक मेडिकल प्रोटेक्शन एक्ट लागू नहीं किया गया है, जबकि सीएम ने आश्वासन दिया था कि से जल्द लागू किया जायेगा.
 
अस्पतालों की सुरक्षा के लिए एक क्यूअारटी टीम बनाने पर भी विचार विमर्श हुआ. इसमें प्रशिक्षित गार्ड होंगे, जो मारपीट की घटना को रोकेंगे. बैठक में डॉ. जीडी बनर्जी, डॉ. शंभु प्रसाद, डॉ. प्रदीप सिंह, डॉ. विमलेश सिंह, डॉ. राजेश, डॉ. संजय, डॉ. केपी दारूका, डॉ. अनंत सिन्हा, डॉ. आशुतोष,  डॉ. अजीत आदि शामिल थे.

MOLITICS SURVEY

क्या संतोष गंगवार के बयान का असर महाराष्ट्र चुनाव में होगा ?

TOTAL RESPONSES : 2

Raise Your Voice
Raise Your Voice 

Suffering From Problem In Your Area ? Now Its Time To Raise Your Voice And Make Everyone Know