अमेठी: प्रियंका गांधी के बाद पीड़ित परिवार से मिले कांग्रेस नेता, बोले- लड़ाई में साथ
Latest News
bookmarkBOOKMARK

अमेठी: प्रियंका गांधी के बाद पीड़ित परिवार से मिले कांग्रेस नेता, बोले- लड़ाई में साथ

By Aaj Tak calender  31-Aug-2019

अमेठी: प्रियंका गांधी के बाद पीड़ित परिवार से मिले कांग्रेस नेता, बोले- लड़ाई में साथ

उत्तर प्रदेश के अमेठी में पुलिस कस्टडी में दलित शख्स की मौत के बाद शुक्रवार को कांग्रेस के प्रतिनिधिमंडल ने योगी आदित्यनाथ सरकार से कहा कि वह पीड़ित परिवार को मुआवजा दे और आरोपी पुलिसवालों को जेल भेजे. इससे पहले मंगलवार रात कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने मृतक राम अवतार के परिवारजनों से मुलाकात की थी.
शुक्रवार को अमेठी के भिखारीपुर गांव में पहुंचे कांग्रेस के प्रतिनिधिमंडल ने पीड़ित परिवार से मुलाकात की. बयान में कांग्रेस विधायक और उत्तर प्रदेश विधानसभा में पार्टी के नेता अजय कुमार लल्लू ने कहा, 'प्रियंका गांधी के निर्देश पर हमने पीड़ित परिवार को न्याय दिलाने में हर संभव मदद का आश्वासन दिया है. कस्टडी में मौत के जिम्मेदार पुलिसकर्मियों को तुरंत गिरफ्तार किया जाए. सरकार को पीड़ित परिवार को 50 लाख रुपये का मुआवजा भी देना चाहिए.'
अमेठी के भिखारीपुर पन्हौना गांव के युवक रामऔतार पुत्र रामअभिलाख जिसकी पुलिस कस्टडी में ही मौत हो गईं थी,आज़ कॉंग्रेस महासचिव श्रीमती @priyankagandhi जी के निर्देश पर पीड़ित परिवार के घऱ पहुंचा व संवेदना व्यक्त करते हुए आर्थिक मदद किया।
पिछले हफ्ते गुरुवार को राम अवतार को उनके घर से चोरी से शक में उठा लिया गया था और उन्हें स्थानीय पुलिस थाने में रविवार तक हिरासत में रखा गया. परिवार का आरोप है कि उन्हें पुलिस लॉक अप में बुरी तरह टॉर्चर किया गया और उनकी मौत हो गई. पीड़ित परिवार से मिलकर मीडिया से बातचीत में प्रियंका गांधी ने कहा, 'उत्तर प्रदेश में अराजकता है और कस्टडी में मौत के लिए जिम्मेदार पुलिसकर्मियों को गिरफ्तार किया जाना चाहिए.
कांग्रेस पार्टी इस मुश्किल समय में उनके साथ है. उनके साथ हुए अन्याय में हम इस लड़ाई में उनके साथ हैं'. इस मामले में पुलिस इंचार्ज ज्ञानचंद शुक्ला और आउटपोस्ट इंचार्ज धीरेंद्र वर्मा को सस्पेंड कर दिया और बाद में उन पर कस्टोडियल डेथ मामले में मामला दर्ज किया गया है. इस मामले में सभी एंगल से जांच के लिए मजिस्ट्रेट जांच के आदेश दिए हैं. मामले के सामने आने के बाद वरिष्ठ अधिकारियों ने भी मामले की जांच के लिए गांव का दौरा किया था.

MOLITICS SURVEY

ट्रैफिक रूल्स में हुए नए बदलाव जनता के लिए !

फायदेमंद
  33.33%
नुकसानदायक
  66.67%

TOTAL RESPONSES : 24

Raise Your Voice
Raise Your Voice 

Suffering From Problem In Your Area ? Now Its Time To Raise Your Voice And Make Everyone Know