मानसून सत्र : भाजपा विधायक दल की बैठक 19 अगस्त को, विपक्ष के हमलों का जवाब देने की बनेगी रणनीति
Latest News
bookmarkBOOKMARK

मानसून सत्र : भाजपा विधायक दल की बैठक 19 अगस्त को, विपक्ष के हमलों का जवाब देने की बनेगी रणनीति

By News18 calender  17-Aug-2019

मानसून सत्र : भाजपा विधायक दल की बैठक 19 अगस्त को, विपक्ष के हमलों का जवाब देने की बनेगी रणनीति

हिमाचल विधानसभा का मानसून सत्र 19 अगस्त से शुरू हो रहा है. सत्र 31 अगस्त तक चलेगा जिसे बढ़ाने की संभावनाएं भी व्यक्त की जा रही है. वहीं सत्र से पहले विपक्ष के हमलों का जवाब देने के लिए बीजेपी 19 अगस्त को ही रणनीति तैयार करेगी. संसदीय कार्यमंत्री सुरेश भारद्वाज ने बीजेपी विधायक दल की बैठक सुबह 11 बजे विधानसभा में सत्तापक्ष कक्ष में बुलाई है. सीएम जयराम ठाकुर बैठक की अध्यक्षता करेंगे. इसमें सभी मंत्रियों और विधायकों को बैठक में उपस्थित रहने के निर्देश दिए गए हैं. इसके अलावा बीजेपी के एसोसिएट विधायक होशियार सिंह और प्रकाश राणा भी मौजूद रहेंगे. ये वर्तमान में निर्दलीय विधायक हैं. सत्र लंबा है इसलिए विपक्ष भी सरकार को कई मुद्दों पर घेरने की कोशिश कर सकता है. इसे देखते हुए सत्तापक्ष भी पहले से ही तैयारी करने जा रहा है.
बता दें कि सत्र शुरू होने से पहले सूबे की सियासत सदन के बाहर गरमा गई है. विपक्ष सरकार को घेरने की रणनीति बनाने में जुटा है तो वहीं सत्तापक्ष की ओर से सत्र को लेकर पूरी तरह तैयार होने की बात कही जा रही है. वहीं 11 दिन के सत्र की अवधि को बढ़ाने पर भी चर्चाएं शुरू हो चुकी है. सीएम जयराम ठाकुर ने भी इसके संकेत दिए हैं. साथ ही यह भी कहा कि अगर सत्र के दौरान यह विषय सदन में उठता है तो सरकार को सत्र की अवधि बढ़ाने पर कोई आपत्ति नहीं है. बजट सत्र इस बार छोटा हुआ है, क्योंकि, विधानसभा की साल में 35 बैठकें करना जरूरी होती है. बजट सत्र 13 दिन का था जबकि मानसून सत्र अभी तक 11 दिन का रखा गया है. ऐसे में शीतकालीन सत्र धर्मशाला में होता है. इसकी बैठकें सरकार ज्यादा दिन नहीं करना चाहती है, क्योंकि, इसका खर्चा ज्यादा होता है. बहरहाल सरकार अब मानसून सत्र को ही लंबा खिंचने की तैयारी कर रही है.
वहीं विपक्ष की ओर से धारा 118 में संशोधन को इस सत्र में मुद्दा बनाया जा सकता है. इन्वेस्टरों को धारा 118 में राहत देने के मुद्दे पर विपक्ष सरकार को घेर सकता है. इस पर सीएम जयराम ठाकुर ने विपक्ष पर निशाना साधा है. उन्होंने कहा कि सरकार ने न तो धारा 118 में संशोधन किया है और न ही ऐसी कोई योजना है. विपक्ष बिना सिरपैर की बातें कर रहा है. धारा 118 में सबसे ज्यादा संशोधन कांग्रेस सरकार के समय में ही हुए हैं. उन्होंने सत्र के दौरान विपक्ष से सौहादपूर्ण वातावरण की उम्मीद की. विपक्ष से जो प्रश्न आएंगे उनका अभिनंदन है. सरकार पूरी ताकत के साथ उनका जवाब देगी.

MOLITICS SURVEY

क्या संतोष गंगवार के बयान का असर महाराष्ट्र चुनाव में होगा ?

TOTAL RESPONSES :

Raise Your Voice
Raise Your Voice 

Suffering From Problem In Your Area ? Now Its Time To Raise Your Voice And Make Everyone Know