कांग्रेस अध्यक्ष का चुनाव: सोनिया बोलीं- राहुल और मैं इसका हिस्सा नहीं हो सकते
Latest News
bookmarkBOOKMARK

कांग्रेस अध्यक्ष का चुनाव: सोनिया बोलीं- राहुल और मैं इसका हिस्सा नहीं हो सकते

By Aajtak calender  10-Aug-2019

कांग्रेस अध्यक्ष का चुनाव: सोनिया बोलीं- राहुल और मैं इसका हिस्सा नहीं हो सकते

कांग्रेस का नया अंतरिम अध्यक्ष चुनने के लिए दिल्ली में कांग्रेस कार्यसमिति (CWC) की बैठक दिल्ली में चल रही है. इस बैठक में राहुल गांधी, सोनिया गांधी और मनमोहन सिंह समेत कांग्रेस की टॉप लीडरशिप शिरकत कर रही है. बैठक में जोन के हिसाब से सुझाव के लिए नेताओं की पांच टीम बनाई गई थीं, जिसमें सोनिया गांधी और राहुल गांधी के नाम भी थे. लेकिन सोनिया गांधी ने इस पर ऐतराज जताया है और कहा कि वो और राहुल गांधी अध्यक्ष के चुनाव की प्रकिया का हिस्सा नहीं हो सकते हैं. इस वक्त सोनिया गांधी और राहुल गांधी कांग्रेस वर्किंग कमेटी की बैठक से बाहर चले गए हैं. इसके बाद वर्किंग कमेटी की बैठक दोबारा होगी. सोनिया ने कहा है कि हमारा नाम कमेटी में डालना ठीक नहीं है.
सूत्रों के मुताबिक गांधी परिवार मध्य आयु वर्ग के किसी ऐसे शख्स को कांग्रेस का अंतरिम अध्यक्ष चुनना चाहती है जिसे संगठन चलाने का अनुभव हो. इस लिहाज से मुकुल वासनिक अंतरिम अध्यक्ष की रेस में अपने प्रतिद्वन्दियों सुशील शिंदे और मल्लिकार्जुन खड़गे से आगे निकल जाते हैं. मुकुल वासनिक सबसे लंबे समय तक लगातार कांग्रेस महासचिव रहे हैं. इसके अलावा मुकुल वासनिक राजीव गांधी फाउंडेशन के भी सदस्य रहे हैं, इससे साफ होता है कि वह गांधी परिवार के बेहद करीबी हैं.
कांग्रेस कार्यसमिति की बैठक के बाद कांग्रेस कार्यसमिति को क्षेत्रवार पांच जोन में बांटा गया है. इस जोन के नेता अध्यक्ष पद को लेकर कांग्रेस विधायक दल के नेता, कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष, सांसद और सचिवों से बात करेंगे. इस चर्चा के बात के बाद कांग्रेस के अंतरिम अध्यक्ष का ऐलान किया जाएगा. कांग्रेस द्वारा बनाए गए ईस्ट जोन में सोनिया गांधी जबकि वेस्ट जोन में राहुल गांधी का नाम है. सोनिया गांधी ने इसी जोन में नाम डाले जाने पर आपत्ति जताई है
अंतरिम अध्यक्ष चुनने के लिए कांग्रेस कार्यसमिति को जिन पांच भागों में बांटा गया है. वे जोन हैं:
वेस्ट जोन
वेस्ट जोन में गुजरात, दादर नगर हवेली, दमन दिव, गोवा, मध्यप्रदेश, महाराष्ट्र, मुम्बई और राजस्थान शामिल हैं. इस जोन में राहुल गांधी, मल्लिकार्जुन खड़गे, गुलाम नबी आजाद, मोतीलाल वोरा, एके एंटनी, सिद्दरामैया, जितिन प्रसाद, कुलदीप विश्नाई और श्रीनिवासन बी वी शामिल हैं.
ईस्ट जोन
ईस्ट जोन में सोनिया गांधी, तरुण गोगोई, कुमारी शैलजा, केसी वेणुगोपाल, जितेंद्र सिंह, आरपीएन सिंह, पीएल पुनिया, दीपेंद्र हुड्डा, शक्तिसिंह गोहिल शामिल हैं. इस जोन में देश के बिहार, छत्तीसगढ़, झारखंड, ओडिशा और पश्चिम बंगाल शामिल है.
नार्थ जोन
नॉर्थ जोन में प्रियंका गांधी, अविनाश पांडे, पी चिदंबरम, ज्योतिरादित्य सिंधिया, पीसी चाको और आशा कुमारी शामिल है. इन जोन में दिल्ली, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश, जम्मू-कश्मीर, पंजाब, चंडीगढ़, उत्तराखंड और  उत्तर प्रदेश राज्य आते हैं.
नार्थ ईस्ट जोन
नार्थ ईस्ट जोन में अम्बिका सोनी, अहमद पटेल, हरीश रावत, दीपक बाबरिया, मीरा कुमार, ओमान चांडी और सचिन राव शामिल हैं. इस जोन में अरुणाचल प्रदेश, असम, मणिपुर, मिजोरम, नागालैंड, मेघालय, सिक्किम और त्रिपुरा शामिल है.
साउथ जोन
साउथ जोन में मनमोहन सिंह, आनंद शर्मा, मुकुल वासनिक, रणदीप सुरजेवाला, राजीव साठव, अधीर रंजन चौधरी शामिल हैं. इस इलाके में आंध्र प्रदेश, कर्णाटक, केरल, तेलंगाना, तमिलनाडु, लक्षद्वीप और पुदुचेरी शामिल है.

MOLITICS SURVEY

क्या आरक्षण पर मोहन भागवत के बयान से चुनावों में बीजेपी को नुकसान होगा?

TOTAL RESPONSES : 16

Raise Your Voice
Raise Your Voice 

Suffering From Problem In Your Area ? Now Its Time To Raise Your Voice And Make Everyone Know