उपराष्ट्रपति वैंकेया नायडू आज 13 लाख किसानों के खाते में भेजेंगे 400 करोड़ रुपये
Latest News
bookmarkBOOKMARK

उपराष्ट्रपति वैंकेया नायडू आज 13 लाख किसानों के खाते में भेजेंगे 400 करोड़ रुपये

By News18 calender  10-Aug-2019

उपराष्ट्रपति वैंकेया नायडू आज 13 लाख किसानों के खाते में भेजेंगे 400 करोड़ रुपये

उपराष्ट्रपति वैंकेया नायडू आज रांची आने वाले हैं. सुबह 10.20 बजे वे रांची एयरपोर्ट पहुंचेंगे. वहां से होटल रेडिशन ब्लू जाएंगे और एक कार्यक्रम में हिस्सा लेंगे. इसके बाद उपराष्ट्रपति 11.45 बजे हरमू मैदान पहुंचेंगे, जहां मुख्यमंत्री कृषि आशीर्वाद योजना की शुरुआत करेंगे. इस योजना के तहत राज्य के 35 लाख लघु एवं सीमांत किसानों को 3000 करोड़ रुपये की आर्थिक सहायता प्रदान की जायेगी.
13.60 लाख किसानों को मिलेगा लाभ

किसानों को प्रति एकड़ प्रति वर्ष पांच हजार रुपये की सहायता डीबीटी के माध्यम से सीधे उनके बैंक एकांउट में दिये जाएंगे. इस योजना का लाभ लेने के लिए करीब 13.60 लाख किसानों का ऑनलाइन निबंधन हो चुका है. इस योजना की लॉन्चिंग को लेकर राजधानी रांची के हरमू मैदान में दिन के 11.30 बजे से मुख्य समारोह के साथ- साथ सभी जिलों में भी कार्यक्रम आयोजित होंगे.
संसद में हुआ बंपर कामकाज, 3 तलाक पर सबसे ज्यादा बहस, टॉप-2 में नहीं अनुच्छेद 370
कृषि सचिव पूजा सिंघल ने बताया कि इस योजना के माध्यम से 15 लाख किसानों को प्रथम चरण में प्रथम किस्त की राशि दी जानी है. इस सिलसिले में अबतक 13.60 लाख किसानों का आनलाइन निबंधन हो चुका है. उन्होंने यह भी बताया कि 3000 करोड़ रुपए की इस योजना के तहत पहले चरण के लिए 800 करोड़ रुपए जारी किये गये हैं. किसानों को दो किस्तों में यह राशि दी जाएगी. पहले चरण में 400 करोड़ दिए जाएंगे.

पूजा सिंघल ने बताया कि अक्टूबर तक 35 लाख किसानों को इस योजना के दायरे में लाने की कोशिश की है. इस योजना के अंतर्गत सभी लघु एवं सीमांत किसानों को कृषि कार्य हेतु प्रति एकड़ पांच हजार रुपए की दर से अधिकतम 25 हजार रुपए की आर्थिक सहायता दी जाएगी. यह राशि दो किस्तों में दी जाएगी.
पहली किस्त में ढाई हजार रुपए और दूसरी किस्त में फिर ढाई हजार रुपए डीबीटी के जरिए किसानों के खाते में भेजे जाएंगे. कृषि सचिव के मुताबिक पहले चरण में जिन 13.60 लाख किसानों को पहली किस्त की राशि दी जा रही है, उनमें से 83 प्रतिशत के पास दो एकड़ से कम कृषि योग्य जमीन हैं. इनमें 65 प्रतिशत किसानों के पास एक एकड़ से कम और 18 प्रतिशत किसानों के पास एक से दो एकड़ के बीच जमीन है.

MOLITICS SURVEY

क्या आरक्षण पर मोहन भागवत के बयान से चुनावों में बीजेपी को नुकसान होगा?

TOTAL RESPONSES : 20

Raise Your Voice
Raise Your Voice 

Suffering From Problem In Your Area ? Now Its Time To Raise Your Voice And Make Everyone Know