कश्मीर में जवानों की तैनाती और एडवाइजरी के बाद महबूबा बोलीं- कुछ ‘बड़ा प्लान’ हो रहा है
Latest News
bookmarkBOOKMARK

कश्मीर में जवानों की तैनाती और एडवाइजरी के बाद महबूबा बोलीं- कुछ ‘बड़ा प्लान’ हो रहा है

By Tv9bharatvarsh calender  03-Aug-2019

कश्मीर में जवानों की तैनाती और एडवाइजरी के बाद महबूबा बोलीं- कुछ ‘बड़ा प्लान’ हो रहा है

अमरनाथ यात्रियों को तुरंत जम्मू-कश्मीर छोड़ने संबंधी एडवाइजरी जारी करने के बाद स्थानीय लोगों में भय का माहौल बन गया है. वहीं इस मामले में सियासत भी गर्माने लगी है. कांग्रेसी नेता गुलाम नबी आजाद ने कहा कहा कि ऐसा सुनने में आ रहा है कि कश्मीर में अतिरिक्त बलों की नियुक्ति की जा रही है. ऐसी भी खबरें आ रहीं थी कि केंद्र सरकार धारा 35 ए और 370 पर दखल दे रही है.
कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद ने कहा कि, कश्मीर में अतिरिक्त बलों को भेजा जा रहा है. ये पहले से ही सुनियोजित था. लेकिन खबरें ऐसी भी आ रही हैं कि केंद्र सरकार जम्मू कश्मीर से धारा 35ए और 370 को खत्म करना चाहती है इसकी वजह से ऐसा किया जा रहा है. लेकिन आज तो एडवाइजरी गर्वमेंट ऑफ इंडिया की तरफ से होम मिनिस्टरी की तरफ से दी गई है वो बहुत ही चिंताजनक है. जम्मू कश्मीर में पिछले तीस सालों से आतंकवाद है लेकिन कभी यात्रा को ऐसे नहीं रोकी गई. पिछले 10 सालों से तो पूरी तरह शांत माहौल है. पहले जैसा माहौल नहीं है. घाटी में पूरी तरह से शांति है. मिलिटैंट भी नहीं है. हम लोगों ने आज मीटिंग की है. आज पूरे हिंदुस्तान में चिंता का माहौल है. जम्मू कश्मीर, लद्दाख के लोग नहीं चाहते कि यहां से धारा 370 और 35ए हटे.
पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने ट्वीट करते बताया कि श्रीनगर की सड़कों पर पूरी अव्यवस्था फैल गई है. लोग एटीएम, पेट्रोल पंपों और जरूरी सामान लेने के लिए सड़कों पर उतर आए हैं. क्या भारत सरकार को सिर्फ यात्रियों की सुरक्षा की फिक्र है जबकि कश्मीरियों को उनके हाल पर छोड़ दिया गया है. सूबे की पूर्व मुख्यमंत्री और पीडीपी नेता महबूबा मुफ्ती ने कहा है कि कश्मीर में ‘कुछ बड़ा’ प्लान किया जा रहा है.
अमित शाह (ऑन रिकॉर्ड,ऑफ कैमरा), ये साधारण एडवाइजरी नहीं है. (कश्मीर में जम्मू-कश्मीर सरकार की अमरनाथ यात्रा और पर्यटकों के लिए एडवाइजरी जारी करने पर) अमरनाथ यात्रा पर उमा भारती ने कहा, ये गृह मंत्रालय का फैसला है, अमरनाथ यात्रियों की सुरक्षा के लिए ही होगा फैसला, जहां से याद करोगे बाबा अमरनाथ वहीं आशिर्वाद देंगे.
कश्मीर की सड़कों पर फैली अव्यवस्था के माहौल के बीच कश्मीर के डिविजनल कमिश्नर बसीर खान ने स्थानीय लोगों से अपील की है कि लोग ऐसी अफवाहों को मत फैलाएं. अगले कुछ दिनों में स्थिति के तनावपूर्ण होने के आसार को देखते हुए लोग पेट्रोल पंपों, एटीएम और जरूरी सामानों को लेने के लिए सड़कों पर उतर आए हैं.

MOLITICS SURVEY

क्या आरक्षण पर मोहन भागवत के बयान से चुनावों में बीजेपी को नुकसान होगा?

TOTAL RESPONSES : 28

Raise Your Voice
Raise Your Voice 

Suffering From Problem In Your Area ? Now Its Time To Raise Your Voice And Make Everyone Know