चुनावी लॉलीपॉप है दिल्ली में 200 यूनिट बिजली बिल माफी की घोषणाः मनोज तिवारी
Latest News
bookmarkBOOKMARK

चुनावी लॉलीपॉप है दिल्ली में 200 यूनिट बिजली बिल माफी की घोषणाः मनोज तिवारी

By Aaj Tak calender  01-Aug-2019

चुनावी लॉलीपॉप है दिल्ली में 200 यूनिट बिजली बिल माफी की घोषणाः मनोज तिवारी

दिल्ली में 200 यूनिट तक बिजली का बिल माफ करने की मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की घोषणा को दिल्ली बीजेपी अध्यक्ष मनोज तिवारी ने चुनावी लॉलीपॉप बताया है. उन्होंने आजतक से बातचीत करते हुए कहा कि जब भी चुनाव आता है, तुरंत अरविंद केजरीवाल फ्री वाली घोषणाएं करने में जुट जाते हैं. मनोज तिवारी ने कहा कि 54 महीने बीत गए अब 200 यूनिट फ्री का वायदा मिला है. 54 महीने सरकार ने लूटा और अब 6 महीने आराम की बात कर रहे हैं. दिल्ली की जनता को चुनावी लालच देने की कोशिश है. केजरीवाल दूसरी प्रेस कांफ्रेंस कर कब बताएंगे कि दिल्ली की जनता को 8.5 हजार करोड़ वापस कर रहे हैं.
उन्होंने कहा कि 60 महीने के शासनकाल में सरकार कुछ नहीं कर सकी. अब जनता को चुनाव मे फिर से छलने की कोशिश है. BJP केजरीवाल से दिल्ली की जनता से वसूले गए फिक्स चार्ज की धनराशि को वापस करने की मांग करती है. इसके लिए BJP सड़क पर भी उतरेगी. नारा होगा - केजरीवाल करो रिफंड, वरना दिल्ली देगी दंड.
अब यही सवाल उठता है कि 7000 करोड़ जो आपने फिक्स्ड चार्जेज के नाम पर लिए हैं, वह कब वापस करोगे. दिल्ली की जनता को एक-एक पैसा वापस करना पड़ेगा. दिल्ली की जनता अब इन वायदों में नहीं आने वाली है. यह सिर्फ और सिर्फ एक चुनावी नुस्खा है. दिल्ली की जनता अच्छी तरीके से जानती है. दिल्ली के चुनाव पर इसका कोई असर नहीं होने वाला है. लोगों को अब याद रहता है कि यह झूठ बोलकर चुनाव में आते हैं.
उधर, दिल्ली विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष विजेंद्र गुप्ता ने कहा कि केजरीवाल नया शिगूफा लेकर आए हैं. दिल्ली का टैक्स पेयर खुद को ठगा महसूस कर रहा है. न नई बस, न नया अस्पताल, न नया स्कूल... लोग सवाल करेंगे तो झूठ की बिसात पर गुमराह किया जा रहा है. ऐसे वायदे वही करते हैं जो जनता के लिए काम नहीं करते हैं. बिजली हाफ पानी माफ वायदा कहां गया, पहले के मुकाबले ज्यादा बिल आ रहे हैं. उन्होंने सवाल उठाते हुए कहा कि बिजली पर सरचार्ज क्यों नहीं खत्म किया गया.
बता दें कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने गुरुवार को बड़ा ऐलान किया है. अब दिल्ली में आप 200 यूनिट तक बिजली खर्च करते हैं तो कोई बिल देने की जरूरत नहीं है. अगर 200 यूनिट से ऊपर खर्च करते है तो उसको पहले की तरह पूरा बिल देना होगा. इस छूट से सब्सिडी पर लगभग 1800 करोड़ का खर्च आएगा. मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि 2013 से पहले 200 यूनिट के लिए 900 रुपए देने पड़ते थे. अब 200 यूनिट के लिए कोई पैसे नहीं देने होंगे.
केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली में बिजली कंपनियों का घाटा 17 फीसदी से घटकर 8 फीसदी पर आ गया है. साथ ही उन्होंने कहा कि जो जो लोग दिल्ली में बिजली की 200 यूनिट तक खपत करते हैं, उनको अपने बिजली के बिल देने की जरूरत नहीं होगी. उनके बिजली के बिल माफ होंगे. यह घोषणा इसलिए संभव हुई क्योंकि दिल्ली के लोगों ने एक ईमानदार सरकार को चुना है. साथ ही उन्होंने कहा कि अगर कोई भी व्यक्ति 201 यूनिट बिजली यूज करता है तो उसे पूरे पैसे देने पड़ेंगे.
 

MOLITICS SURVEY

क्या आरक्षण पर मोहन भागवत के बयान से चुनावों में बीजेपी को नुकसान होगा?

TOTAL RESPONSES : 36

Raise Your Voice
Raise Your Voice 

Suffering From Problem In Your Area ? Now Its Time To Raise Your Voice And Make Everyone Know