केंद्रीय सशस्त्र सीमा बल में 84 हजार से ज्यादा वैकेंसी, जल्द होगी बहाली, युवाओं के लिए शानदार मौका
Latest News
bookmarkBOOKMARK

केंद्रीय सशस्त्र सीमा बल में 84 हजार से ज्यादा वैकेंसी, जल्द होगी बहाली, युवाओं के लिए शानदार मौका

By Amar Ujala calender  26-Jun-2019

केंद्रीय सशस्त्र सीमा बल में 84 हजार से ज्यादा वैकेंसी, जल्द होगी बहाली, युवाओं के लिए शानदार मौका

केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल के विभिन्न विंग में करीब 10 लाख स्वीकृत पदों में से 84 हजार पद खाली हैं। मंगलवार को सरकार ने लोकसभा में यह जानकारी दी। इन पदों पर बहाली के लिए सरकार जल्द ही बड़ा कदम उठाएगी। नौकरी की तलाश कर रहे युवाओं के लिए आने वाले समय में यह एक बड़ा मौका होगा।

लोकसभा में एक लिखित प्रश्न के जवाब में गृह मंत्रालय ने यह जानकारी दी। बताया गया कि रिटायरमेंट, स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति और शहादत के कारण वैकेंसी लगातार बढ़ती रही है। विभिन्न ग्रेडों के तहत औसतन 10 फीसदी पद हर साल रिक्त होते हैं और इन रिक्तियों को भरने के लिए एक सतत प्रक्रिया चलती रहती है। वर्तमान में 84,037 पद रिक्त हैं। 

केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल के अंतर्गत केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ), सीमा सुरक्षा बल  (बीएसएफ), केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (सीआईएसएफ), सशस्त्र सीमा बल (एसएसबी), भारत-तिब्बत सीमा बल (आईटीबीपी) और असम राइफल्स में ये वैकेंसी हैं। पिछली सरकार में केंद्रीय गृह राज्य मंत्री किरण रिजिजू ने भी राज्यसभा में यह जानकारी दी थी। 
कहां, कितने पदों पर नौकरी
सीआरपीएफ: 22,980 रिक्तियां 
बीएसएफ: 21,465 रिक्तियां
एसएसबी: 18,102 रिक्तियां
सीआईएसएफ: 10,415 रिक्तियां
आईटीबीपी: 6,643 रिक्तियां
असम राइफल्स: 4,432 रिक्तियां 

बताया गया कि साल 2017 में कांस्टेबल (जीडी) के 57 हजार 268 पद कर्मचारी चयन आयोग (SSC) के माध्यम से भरे गए थे। भर्ती वर्ष 2018 में कांस्टेबल (जीडी) के 58,373 पदों के लिए भर्ती सूचना जारी कर कंप्यूटर आधारित परीक्षा ली गई थी। इसी तरह सब—इंस्पेक्टर के 1,094 पदों के लिए एसएससी ने परिणाम घोषित कर दिया है। इसके अलावा सहायक कमांडेंट पद के संबध में 466 रिक्तियों की सूचना संघ लोक सेवा आयोग (यूपीएससी) ने जारी कर दी है।

MOLITICS SURVEY

मॉब लिंचिंग किस वजह से हो रही है ?

दाढ़ी
  5.66%
टोपी
  9.43%
राष्ट्रवाद
  84.91%

TOTAL RESPONSES : 53

Raise Your Voice
Raise Your Voice 

Suffering From Problem In Your Area ? Now Its Time To Raise Your Voice And Make Everyone Know