चाय बागान से ही मेरी जिंदगी शुरू हुई : बारला