50 नए काॅलेज खोलने की घोषणा, लेकिन संचालित 22 कॉलेजों के अभी तक नहीं बने है भवन
Latest News
bookmarkBOOKMARK

50 नए काॅलेज खोलने की घोषणा, लेकिन संचालित 22 कॉलेजों के अभी तक नहीं बने है भवन

By Khas Khabar calender  17-Aug-2019

50 नए काॅलेज खोलने की घोषणा, लेकिन संचालित 22 कॉलेजों के अभी तक नहीं बने है भवन

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि राज्य सरकार प्रदेश में गुणवत्तापूर्ण उच्च शिक्षा उपलब्ध करवाने के लिए प्रतिबद्ध है। विद्यार्थियों को अपने निकटतम स्थान पर उच्च शिक्षा मिल सके, इसके लिए इस वर्ष बजट में 50 नए काॅलेज खोलने की घोषणा की गई है। उन्होंने अधिकारियों से कहा कि इन काॅलेजों के भवनों का निर्माण एक साल में पूरा हो ताकि विद्यार्थियों को शीघ्र इनका लाभ मिले।
 
गहलोत शुक्रवार को मुख्यमंत्री कार्यालय में उच्च शिक्षा को लेकर समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने कहा कि दूरी के कारण किसी विद्यार्थी को उच्च शिक्षा से वंचित नहीं होना पडे़, इसे देखते हुए नए काॅलेज जल्द शुरू करना सरकार की प्राथमिकता है। उन्होंने कहा कि इन काॅलेजों में सरकार संसाधनों की कोई कमी नहीं रखेगी। गहलोत ने निर्देश दिए कि नए घोषित काॅलेजों के साथ-साथ ऐसे काॅलेज जिनके अब तक भवन नहीं बने हैं, उनका भी जिलावार मैप बनाकर इनके शीघ्र निर्माण की कार्ययोजना तैयार की जाए। मुख्यमंत्री ने कहा कि गुणवत्तापूर्ण शिक्षा एवं स्वास्थ्य सेवाओं का विस्तार ऐसे पहलू हैं, जिन पर सरकार का मुख्य फोकस है। दूरस्थ क्षेत्रों में उच्च शिक्षा के विस्तार के लिए सरकारी संसाधनों के साथ-साथ सीएसआर गतिविधियों, भामाशाहों तथा विधायक एवं सांसद निधि के माध्यम से भी सहयोग लिया जा सकता है।

उन्होंने कहा कि कम्पनियां सीएसआर गतिविधियों पर पैसा खर्च करती हैं। उनके इस फण्ड का राज्य एवं समाज के हित में जरूरत के अनुसार उपयोग हो, इसके लिए उन्हें प्रेरित किया जाए। प्रदेश के विकास की दृष्टि से इसके बेहतर परिणाम सामने आएंगे।बैठक में बताया गया कि 50 नए घोषित काॅलेजों के शीघ्र संचालन के लिए नोडल अधिकारियों की नियुक्ति कर दी गई है। फिलहाल भवनों की वैकल्पिक व्यवस्था कर इनमें जल्द शैक्षणिक कार्य शुरू करने के प्रयास किए जा रहे है। साथ ही 22 ऐसे संचालित काॅलेज जिनके भवन नहीं बने हैं, उनके भवन का निर्माण करने के भी प्रयास किए जा रहे हैं। 

इस अवसर पर उद्योग मंत्री परसादीलाल मीणा, मुख्य सचिव डीबी गुप्ता, अतिरिक्त मुख्य सचिव खान एवं पेट्रोलियम सुदर्शन सेठी, अतिरिक्त मुख्य सचिव वित्त निरंजन आर्य, अतिरिक्त मुख्य सचिव उद्योग सुबोध अग्रवाल, सचिव उच्च एवं तकनीकी शिक्षा वैभव गालरिया, उद्योग आयुक्त के.के. पाठक, रीको के एमडी गौरव गोयल भी उपस्थित थे।
 

MOLITICS SURVEY

क्या संतोष गंगवार के बयान का असर महाराष्ट्र चुनाव में होगा ?

हाँ
  50%
नहीं
  50%
पता नहीं
  0%

TOTAL RESPONSES : 2

Raise Your Voice
Raise Your Voice 

Suffering From Problem In Your Area ? Now Its Time To Raise Your Voice And Make Everyone Know