वैश्विक मंदी से बचने को सरकार के कई बड़े ऐलान, सरचार्ज हटेगा, EMI घटेगी
Latest News
bookmarkBOOKMARK

वैश्विक मंदी से बचने को सरकार के कई बड़े ऐलान, सरचार्ज हटेगा, EMI घटेगी

By AajTak calender  23-Aug-2019

वैश्विक मंदी से बचने को सरकार के कई बड़े ऐलान, सरचार्ज हटेगा, EMI घटेगी

केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने शुक्रवार को देश की अर्थव्यवस्था को लेकर प्रेस कॉन्फ्रेंस की. उन्होंने कहा कि दुनिया के बाकी देश भी मंदी का सामना कर रहे हैं. दुनिया के मुकाबले भारत की अर्थव्यवस्था बेहतर हालात में है. वित्त मंत्री ने कहा कि वैश्विक मंदी को समझने की जरूरत है. चीन और अमेरिका के बीच चल रहे ट्रेड वॉर की वजह से मंदी की समस्या सामने आ रही है.
निर्मला सीतारमण ने कहा, ऐसा नहीं है कि मंदी की समस्या सिर्फ भारत के लिए है बल्कि दुनिया के बाकी देश भी इस समय मंदी का सामना कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि सुधार एक निरंतर चलने वाली प्रक्रिया है और देश में लगातार आर्थिक सुधार हुए हैं. भारत की अर्थव्यवस्था दूसरे देशों के मुकाबले काफी बेहतर हुई है.
यह भी पढ़ें: जानिए किस नेता ने 370 पर मोदी शाह के बाद सबसे ज्यादा सुर्खियां बटोरीं
वित्त मंत्री ने कहा कि आर्थिक सुधारों की दिशा में सरकार लगातार काम कर रही है. इनकम टैक्स रिटर्न (ITR) भरना पहले से काफी आसान हुआ है. जीएसटी को भी और आसान बनाया जाएगा. उन्होंने कहा कि कई देशों की तुलना में हमारी विकास दर भी काफी अच्छी है.
वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि सरकार पर आरोप लगते हैं कि टैक्स को लेकर लोगों को परेशान किया जा रहा है. हम टैक्स और लेबर कानूनों में लगातार सुधार कर रहे हैं. टैक्स नोटिस के लिए केंद्रीय सिस्टम होगा और टैक्स के लिए किसी को परेशान नहीं किया जाएगा. वित्त मंत्री ने कहा कि 1 अक्टूबर से केंद्रीय सिस्टम से नोटिस भेजे जाएंगे. जिससे टैक्स उत्पीड़न की घटनाओं पर रोक लगेगी.
वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि कैपिटल गेन्स पर सरचार्ज वापस लिया जाएगा. शेयर बाजार में कैपिटल गेन्स और फॉरेन पोर्टफोलियो इन्वेस्टमेंट (FPI) पर सरचार्ज नहीं लिया जाएगा.
वित्त मंत्री ने किए ये बड़े ऐलान
-शेयर बाजार में कैपिटल गेन्स से सरचार्ज हटेगा.
- स्टार्ट अप टैक्स निपटारे के लिए अलग सेल बनेगा.
- लोन आवेदन की ऑनलाइन निगरानी की जाएगी.
- लोन क्लोज होने के बाद सिक्यॉरिटी रिलेटेड डॉक्यूमेंट बैंकों को 15 दिन के भीतर देना होगा
- रेपो रेट कम होते की ब्याज दरें कम होंगी.
- ब्याजदर घटेगी तो EMI कम होगी.
- बैंकों को ब्याज दरों में कमी का फायदा लोगों को देना होगा.
- डीमैट अकाउंट के लिए आधारमुक्त KYC होगी.
 
 

MOLITICS SURVEY

क्या संतोष गंगवार के बयान का असर महाराष्ट्र चुनाव में होगा ?

हाँ
  50%
नहीं
  50%
पता नहीं
  0%

TOTAL RESPONSES : 2

Raise Your Voice
Raise Your Voice 

Suffering From Problem In Your Area ? Now Its Time To Raise Your Voice And Make Everyone Know