गुजरात में BJP को गंवानी पड़ सकती है राज्यसभा की एक सीट, शाह-ईरानी के जीतने से दो सीटें हुई हैं खाली
Latest News
bookmarkBOOKMARK

गुजरात में BJP को गंवानी पड़ सकती है राज्यसभा की एक सीट, शाह-ईरानी के जीतने से दो सीटें हुई हैं खाली

By Tv9bharatvarsh calender  29-May-2019

गुजरात में BJP को गंवानी पड़ सकती है राज्यसभा की एक सीट, शाह-ईरानी के जीतने से दो सीटें हुई हैं खाली

लोकसभा चुनाव के नतीजे आने के बाद गुजरात की दो राज्यसभा सीटें खाली हो गई हैं. भारतीय जनता पार्टी (BJP) अध्यक्ष अमित शाह के गांधीनगर से लोकसभा के लिए चुने जाने से उनकी राज्यसभा सीट खाली हुई है और केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी जो राज्यसभा सदस्य थीं, अब अमेठी से लोकसभा सदस्य चुनी ली गई हैं. इसलिए उनकी राज्यसभा सीट भी खाली हो गई है. अब इन दोनों को इस्तीफा देना होगा और इन दो सीटों पर चुनाव होगा. गुजरात में राज्यसभा की एक सीट जीतने के लिए 59 विधायक चाहिए होते हैं.
उपचुनाव के नतीजे आने के साथ ही 182 सदस्यीय विधानसभा में भाजपा विधायकों की संख्या 103 हो गई है. कांग्रेस 71 सीटों के साथ दूसरे पायदान पर है. भारतीय ट्राइबल पार्टी के दो, निर्दलीय दो और एक विधायक राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) के हैं. उपचुनाव के बाद भी तीन सीटें खाली हैं.
उपचुनाव में BJP के चार विधायक बढ़े
गुजरात में सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नवनिर्वाचित चार विधायकों ने यहां मंगलवार को शपथ ली. इसके साथ ही विधानसभा में सत्ताधारी दल के विधायकों की संख्या 103 हो गई है. हालांकि इसके बावजूद बीजेपी को प्रदेश से राज्यसभा की मात्र एक सीट सही संतोष करना पड़ेगा.
विधानसभा अध्यक्ष राजेंद्र त्रिवेदी ने नवनिर्वाचित विधायकों -जवाहर चावड़ा (मनवादर), आशा पटेल (ऊंझा), पुरुषोत्तम साबरिया (ध्रंगाधरा) और राघवजी पटेल (जामनगर ग्रमीण)- को शपथ दिलाई. चावड़ा, आशा और साबरिया दिसंबर, 2017 में हुए विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के टिकट पर जीते थे. अब ये तीनों BJP में हैं.
ये भी पढ़ें: Naveen Patnaik To Be Sworn In As Odisha Chief Minister For Fifth Term Today
कांग्रेस के पास हैं एक सीट भर के नंबर 
राज्यसभा की एक सीट जीतने के लिए 59 विधायक चाहिए होते हैं और कांग्रेस के पास 72 विधायक हैं. अगर अल्पेश ठाकोर अपने दावे के मुताबिक 10 विधायक को भी लेकर जाते हैं तब भी कांग्रेस के पास 62 विधायक बने रहेंगे. उसके पास जरुरी नंबर तब भी बरकरार रहेंगे.
इस बार के लोकसभा चुनाव में चार विधायकों के निर्वाचित होने से विधानसभा में भाजपा की और चार सीटें खाली हो गई हैं. फिर BJP के विधायकों की संख्या घटकर 99 हो गई है. अब ये देखना रोचक होगा कि BJP अपनी राज्यसभा सीट बचाने के लिए क्या दाव खेलती है. 
ये भी पढ़ें: HAL की नकदी 14 साल के न्‍यूनतम स्‍तर पर, रक्षा मंत्रालय ने नहीं चुकाया हजारों करोड़ का बिल

अल्पेश को मिलेगी मंत्रिमंडल में जगह
लोकसभा चुनाव में BJP की जीत के बाद गुजरात सरकार में फेर बदल के आसार बढ़ गए हैं. चर्चा है कि युवा नेता अल्पेश ठाकोर को BJP सरकार में शामिल किया जा सकता है. इधर रुपानी सरकार के मंत्री परबत पटेल इस बार बनासकांठा से लोकसभा चुनाव जीते हैं. उनके इस्तीफे के बाद खाली हुए मंत्री पद को भरने के लिए मंत्रिमंडल में फेरबदल जरूरी हो गया है. बता दें कि अल्पेश ठाकोर ने लोकसभा चुनाव में BJP की मदद की है. BJP ने गुजरात की सभी 26 लोकसभा सीटों पर जीत दर्ज की थी.

MOLITICS SURVEY

महाराष्ट्र में अगर शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस के गठबंधन की सरकार बनती है तो क्या उसका हाल भी कर्नाटक जैसा होगा ?

TOTAL RESPONSES : 22

Raise Your Voice
Raise Your Voice 

Suffering From Problem In Your Area ? Now Its Time To Raise Your Voice And Make Everyone Know