दोपहर में दुष्यंत बोले- हम बादल-चौटाला के फैसले के साथ, देर रात बसपा ने तोड़ा गठबंधन, माया बोलीं-अकेले लड़ेंगे
Latest News
bookmarkBOOKMARK

दोपहर में दुष्यंत बोले- हम बादल-चौटाला के फैसले के साथ, देर रात बसपा ने तोड़ा गठबंधन, माया बोलीं-अकेले लड़ेंगे

By Bhaskar calender  07-Sep-2019

दोपहर में दुष्यंत बोले- हम बादल-चौटाला के फैसले के साथ, देर रात बसपा ने तोड़ा गठबंधन, माया बोलीं-अकेले लड़ेंगे

  • इनेलो नेता अभय चौटाला के बाद शुक्रवार दोपहर जजपा नेता दुष्यंत चौटाला ने भी परिवार के एक होने के संकेत दिए ही थे कि रात में बसपा ने जजपा से अलग होने की घोषणा कर दी।
  • दरअसल, दिल्ली में जजपा नेता दुष्यंत ने कहा कि कई सामाजिक खापों के प्रतिनिधियों से मुलाकात के बाद वे पिता अजय चौटाला से जेल में मिले।
  • इसके बाद उन्होंने परिवार को लेकर कोई भी फैसला लेने के लिए पंजाब के पूर्व सीएम प्रकाश सिंह बादल और ओमप्रकाश चौटाला को अधिकृत किया है।
  • तभी देर रात बसपा प्रमुख मायावती ने ट्वीट कर जजपा से गठबंधन तोड़ने की घोषणा कर दी। इससे पहले दुष्यंत ने कहा था, राजनीतिक तौर पर हमारा गठबंधन बसपा के साथ है। इसलिए राजनीतिक ताैर निर्णय संगठन और गठबंधन पार्टनर से बातचीत के बाद ही होगा।  
  • दुष्यंत ने मायावती के निर्णय के जवाब में कहा कि हमने बसपा को पूरा सम्मान दिया था। 11 अगस्त को दिल्ली में दुष्यंत चौटाला और बसपा के राष्ट्रीय महासचिव सतीश चंद्र मिश्रा ने साथ विधानसभा चुनाव लड़ने की घोषणा की थी। तय था कि जेजेपी-50 व बसपा-40 सीटों पर चुनाव लड़ेगी।
  • मायावती ने कहा कि बीएसपी राष्ट्रीय पार्टी है, जिसके हिसाब से हरियाणा में होने वाले विधानसभा आमचुनाव में दुष्यंत चौटाला की पार्टी से जो समझौता किया था वह सीटों की संख्या व उसके बंटवारे के मामले में उनके अनुचित रवैये के कारण इसे बीएसपी हरियाणा यूनिट के सुझाव पर आज समाप्त किया जा रहा है।
  • पार्टी हाईकमान ने यह फैसला किया है हरियाणा प्रदेश में शीघ्र होने वाले विधानसभा चुनाव में बीएसपी अकेले ही पूरी तैयारी के साथ सभी सीटों पर चुनाव लड़ेगी।
  • दुष्यंत चौटाला ने कहा कि जजपा स्वर्गीय देवीलाल के आदर्शों और बाबा साहेब की सर्वहित की नीतियों पर आगे बढ़ रही है।
  • 11 अगस्त को बसपा से गठबंधन के बाद हमारी कोशिश किसान, कमेरों को मजबूत कर पूंजीवादी ताकतों को बाहर करने की रही।
  • जजपा ने बसपा उनके नेतृत्व व समर्थकों को ताकत देने में यकीन किया।
  • उन्हें 40 सीटों का प्रस्ताव दिया। हमारी इच्छा बहुजन समाज को राजनीतिक ताकत देने की रही। जजपा सभी सीटों पर चुनाव लड़ेगी।
सरकार कमेरे वर्ग को बाईक से उतारकर पैदल चलने को मजबूर कर रही है – दुष्यंत चौटाला

MOLITICS SURVEY

क्या संतोष गंगवार के बयान का असर महाराष्ट्र चुनाव में होगा ?

हाँ
  50%
नहीं
  50%
पता नहीं
  0%

TOTAL RESPONSES : 2

Raise Your Voice
Raise Your Voice 

Suffering From Problem In Your Area ? Now Its Time To Raise Your Voice And Make Everyone Know