योगी सरकार का कैबिनेट विस्तार कल, जानें किन नए चेहरों को मिल सकता है मौका
Latest News
bookmarkBOOKMARK

योगी सरकार का कैबिनेट विस्तार कल, जानें किन नए चेहरों को मिल सकता है मौका

By Aaj Tak calender  20-Aug-2019

योगी सरकार का कैबिनेट विस्तार कल, जानें किन नए चेहरों को मिल सकता है मौका

उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ सरकार के मंत्रिमंडल के प्रस्तावित विस्तार में कई नए चेहरों को शामिल किया जा सकता है तो कई मंत्रियों के कद बढ़ना तय है. माना जा रहा है कि 2022 के विधानसभा चुनाव के समीकरण साधने के लिए योगी सरकार अपने मंत्रिमंडल विस्तार का ताना-बाना बुनने जा रही है. विस्तार से पहले यूपी के वित्त मंत्री राजेश अग्रवाल ने  इस्तीफा दे दिया है. 
योगी सरकार के मंत्रिमंडल के विस्तार को लेकर लगातार जिस तरह के संकेत मिल रहे हैं उसमें परफॉर्मेंस के हिसाब से कई पुराने मंत्रियों की छुट्टी हो सकती है. जबकि जुझारू और साफ छवि के नए और युवा चेहरों को शामिल किया जा सकता है. बुधवार को होने वाले मंत्रिमंडल विस्तार में करीब 15 चेहरों को शामिल किया जा सकता है.
योगी आदित्यनाथ सरकार के मंत्रिमंडल के प्रस्तावित विस्तार में पश्चिम यूपी की इस बार लॉटरी खुल सकती है. इस क्षेत्र के हिस्से से कई लोगों को मंत्री बनने का मौका मिल सकता है. मुजफ्फरनगर से विधायक कपिल देव अग्रवाल को मंत्री बनाया जा सकता है. इसके अलावा बुलंदशहर की शिकारपुर सीट से विधायक अनिल शर्मा को भी मंत्री पद से नवाजा सकता है. साथ ही केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह के बेटे पंकज सिंह की किस्मत खुल सकती है. वो नोएडा से विधायक हैं.
सूत्रों की मानें तो पांच गुर्जर एमएलए और एमएलसी होने के बाद भी किसी को मंत्री नहीं बनाया गया, लेकिन इस बार सामाजिक समीकरण साधने के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ गुर्जर समुदाय से किसी चेहरे को मंत्री बना सकते हैं. इनमें बिजनौर के एमएलसी अशोक कटारिया का नाम नंबर एक पर लिया जा रहा है. माना जा रहा है कि कटारिया को मंत्री बनाया जा सकता है.
साथ ही, हस्तिनापुर के विधायक दिनेश खटीक को आरएसएस की पैरवी से मजबूत दावेदार माना जा रहा है. मेरठ से किसी एक को मंत्री बनाया जा सकता है. ऐसे में दिनेश खटीक भी मंत्री पद की दौड़ में माने जा रहे हैं. वह दलित समुदाय से आते हैं. इसके अलावा फतेहपुर सीकरी विधानसभा सीट से विधायक उदयभान सिंह को एसपी बघेल की जगह मंत्री बनाने की संभावना है. उदयभान सिंह के जरिए बृजक्षेत्र को साधने की रणनीति है.
लोकसभा चुनाव में कांग्रेस के दुर्ग माने जाने वाले अमेठी संसदीय सीट से बीजेपी की स्मृति ईरानी ने जीत दर्ज की है. ऐसे में अमेठी इलाके के सलोन विधानसभा सीट से विधायक दल बहादुर कोरी को मंत्री बनाए जाने की संभावना है. वह पहले भी बीजेपी शासन में मंत्री रह चुके हैं. मौजूदा समय में उन्हें केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी का काफी करीबी माना जाता है.
पूर्वांचल के सतीश द्विवेदी का नाम भी मंत्रिमंडल विस्तार में चल रहा है. माना जा रहा है कि सतीश द्विवेदी को मंत्री बनाकर पूर्वांचल को साधने की रणनीति है. बस्ती से राम चौहान को भी मंत्रिमंडल में जगह मिल सकती है. इसके अलावा नीलिमा कटियार को भी लाल बत्ती से नवाजा जा सकता है.
योगी सरकार में परफॉर्मेंस के हिसाब से कई पुराने मंत्रियों का कद बढ़ाया जा सकता है. इनमें महेंद्र सिंह, अनिल राजभर, नीलकंठ तिवारी और मोहसिन रजा सहित आधे दर्जन मंत्रियों के नाम हैं, जिन्हें प्रमोशन कर उनके कद को बढ़ाया जा सकता है.

MOLITICS SURVEY

क्या संतोष गंगवार के बयान का असर महाराष्ट्र चुनाव में होगा ?

हाँ
  50%
नहीं
  50%
पता नहीं
  0%

TOTAL RESPONSES : 2

Raise Your Voice
Raise Your Voice 

Suffering From Problem In Your Area ? Now Its Time To Raise Your Voice And Make Everyone Know