आत्मघाती हमले के बाद अफगानिस्तान ने 100वां स्वतंत्रता दिवस समारोह टाला
Latest News
bookmarkBOOKMARK

आत्मघाती हमले के बाद अफगानिस्तान ने 100वां स्वतंत्रता दिवस समारोह टाला

By ThePrint(Hindi) calender  19-Aug-2019

आत्मघाती हमले के बाद अफगानिस्तान ने 100वां स्वतंत्रता दिवस समारोह टाला

अफगानिस्तान सरकार ने सोमवार को स्वतंत्रता दिवस की 100वीं वर्षगांठ पर आयोजित होने वाले सभी समारोह को स्थगित कर दिया है. जो ऐतिहासिक दर-उल-अमन पैलेस में सोमवार के लिए निर्धारित था. खामा प्रेस के मुताबिक, राष्ट्रपति के प्रवक्ता सेदिक सेदिक्की ने कहा कि सचिवालय ने राष्ट्रपति मोहम्मद अशरफ गनी के निर्देश पर अफगानिस्तान के 100वें स्वतंत्रता समारोह के आयोजन को टाल दिया है. राष्ट्रपति ने काबुल में हुए विस्फोट में मारे गए लोगों के परिवारों के प्रति सम्मान व संवेदना व्यक्त करने के लिए यह फैसला लिया है.
शनिवार की रात काबुल में एक शादी समारोह के दौरान में हुए विस्फोट में करीब 63 लोग मारे गए और 182 लोग घायल हो गए थे. रविवार को ही इस विस्फोट में मारे गए लोगों को दफनाया गया, अधिकांश मृतकों को सामूहिक रूप से दफनाया गया.
यह भी पढ़ें: 'अब पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर के भारत में शामिल होने की प्रार्थना करें'
राष्ट्रपति के प्रवक्ता सेदिक ने कहा कि राष्ट्रपति अफगानिस्तान के 100वें स्वतंत्रता दिवस के मौके पर आजादी के शहीदों को श्रद्धांजलि देने के लिए एक भाषण देंगे और स्वतंत्रता मीनार पर पुष्प चक्र अर्पित करेंगे.
बता दें कि पिछले दिनों भारत की 73 वें स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर लालकिले की प्राचीर से अफगानिस्तान के स्वतंत्रता दिवस की बधाई दी थी. शनिवार को काबुल में एक वेडिंग हाल में किए गए घातक बम हमले की भारत ने रविवार को कड़ी निंदा की, और इस आंतकी हमले के साजिशकर्ताओं और उन्हें शरण देने वालों को तत्काल कानून के कटघरे में खड़ा करने की मांग की है. विदेश मंत्रालय ने जारी एक बयान में इस हमले में मारे गए लोगों के परिवारों के प्रति शोक संवेदना प्रकट की और घायलों के जल्द स्वस्थ होने की कामना की.
बयान में कहा गया है, ‘भारत इस जघन्य आतंकी हमले के साजिशकर्ताओं और उन्हें शरण देने वालों को जल्द से जल्द कानून के कटघरे में खड़ा करने का आह्वान करता है.’ आंतरिक मंत्रालय के प्रवक्ता नुसरत रहीमी ने कहा कि शनिवार का विस्फोट आत्मघाती था, जो रात लगभग 10.40 पर हुआ था. आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट ने हमले की जिम्मेदारी ली है, जबकि तालिबान ने इसकी निंदा की है.

MOLITICS SURVEY

'ओला-ऊबर के कारण ऑटो सेक्टर में मंदी' - क्या निर्मला सीतारमण के इस बयान से आप सहमत है ?

हाँ
  20.75%
नहीं
  69.81%
कुछ कह नहीं सकते
  9.43%

TOTAL RESPONSES : 53

Raise Your Voice
Raise Your Voice 

Suffering From Problem In Your Area ? Now Its Time To Raise Your Voice And Make Everyone Know