महबूबा मुफ्ती की बेटी बोलीं- झूठ बोल रहे हैं गृहमंत्री अमित शाह, मेरी मां हिरासत में है, उनसे कोई संपर्क नहीं हो रहा
Latest News
bookmarkBOOKMARK

महबूबा मुफ्ती की बेटी बोलीं- झूठ बोल रहे हैं गृहमंत्री अमित शाह, मेरी मां हिरासत में है, उनसे कोई संपर्क नहीं हो रहा

By Ndtvi calender  26-Aug-2019

महबूबा मुफ्ती की बेटी बोलीं- झूठ बोल रहे हैं गृहमंत्री अमित शाह, मेरी मां हिरासत में है, उनसे कोई संपर्क नहीं हो रहा

जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री और पीडीपी प्रमुख महबूबा मुफ्ती को हिरासत में रखकर किसी वकील या कार्यकर्ता से मुलाकात नहीं करने दी जा रही है. यह जानकारी उनकी बेटी इल्तज़ा जावेद ने व्हाट्सऐप के ज़रिए अपना बयान भेजकर कही है. इल्तजा ने कहा, 'दो दिन से उन्हें हिरासत में ले लिया गया है. यहां ऐसे हालात कर दिए गए हैं कि किसी को घर से बाहर नहीं निकलने दिया जा रहा है. यहां मास हाउसअरेस्ट किया गया है. मैं चाहती हूं कि मीडिया को पता चले कि यहां क्या हो रहा है, चल क्या रहा है? हमारे गृहमंत्री गलत बोल रहे हैं कि फारूक अब्दुल्ला और बाकी नेताओं को नजरबंद नहीं किया गया है. बिल्कुल नजरबंद किया गया है. सज्जाद लोन, इमरान अंसारी, मेरी मां और उमर अब्दुल्ला को हिरासत में लिया गया है.'
धार 370 हटाए जाने के बाद कश्मीर में कैसे हालात हैं, इस पर इल्तजा ने कहा, 'कैसी स्थिति है, यह पता नहीं. यहां मास हाउस अरेस्ट किया गया है. कोई भी अपने घर से नहीं निकल सकता. यहां लोगों को पहले से ही संकेत मिल गए थे, जब सुरक्षाबलों की तैनाती हुई कि धारा 370 और 35 ए को हटाया जा रहा है. और ये लोग हमारी आंखों पर पर्दा डालकर कहते रहे कि यात्रियों को खतरा है. ऐसा कुछ नहीं था. साल 2016 में जैसे नोटबंदी की गई, इस साल की नोटबंदी धारा 370 हटाना है. इस फैसले पर बिल्कुल भी चर्चा नहीं की गई, उन्होंने अचानक ले लिया. लेकिन इसका असर हम पर और आम कश्मीरी पर क्या पड़ेगा, इसका उन्हें बिल्कुल भी अंदाजा नहीं है.'
साथ ही उन्होंने कहा, 'वे कहते हैं कि यह भाजपा का पुराना एजेंडा है, तो एजेंडा तब भी था, जब अटल बिहारी वाजपेयी थे. अटल बिहारी वाजपेयी इतने बड़े आदमी थे. उन्होंने अपना दिल कश्मीरियों के लिए बिल्कुल खोल दिया था. वह पहले ऐसे मशहूर राष्ट्रीय नेता थे, जिन्हें कश्मीरियों ने अपने जीवन में पहली बार देखा. उनके समय भी तो श्यामा प्रसाद मुखर्जी का सपना था कि धारा 370 हटाई जाए. उन्होंने जम्हूरियत, इंसानियत और कश्मीरियत के दायरे में समाधान ढूंढ़ने की कोशिश की. अगर उन्होंने ऐसी कोशिश नहीं की तो आपने यह फैसला कैसे ले लिया. आपको ऐसा क्यों लगा कि ऐसा करने से कश्मीर की हर समस्या का समाधान हो जाएगा.'  साथ ही कहा कि अटल बिहारी वाजपेयी ने कश्मीर समस्या का समाधान ढूंढ़ने के लिए हुर्रियत नेताओं से बातचीत की तो आप कह रहे हैं कि वह देश विरोधी थे.
इल्तजा ने साथ ही कहा कि हमारे परिवार ने तो बड़ी मुश्किल से चार-पांच साल कश्मीर पर राज किया है. आप कहते हैं कि मुफ्ती और अब्दुल्ला परिवार ने कश्मीर को बर्बाद कर दिया. आप झूठ क्यों बोल रहे हैं, मान लिया कि हमारी पार्टी ने कश्मीर में कुछ खराब किया है तो 2015 में पीडीपी के पीछे इतना क्यों पड़े थे कि आप हमारे साथ सरकार बनाएं, हम गठबंधन के एजेंडे पर चलेंगे. उसमें लिखा था कि भाजपा को यह कबूल है कि वह धारा 370 और 35 ए नहीं हटाई  जाएंगी.

MOLITICS SURVEY

क्या आरक्षण पर मोहन भागवत के बयान से चुनावों में बीजेपी को नुकसान होगा?

TOTAL RESPONSES : 30

Raise Your Voice
Raise Your Voice 

Suffering From Problem In Your Area ? Now Its Time To Raise Your Voice And Make Everyone Know