अंशु प्रकाश आज बनेंगे टेलिकॉम सचिव, केजरीवाल के विधायकों पर लगा चुके हैं मारपीट का आरोप
Latest News
bookmarkBOOKMARK

अंशु प्रकाश आज बनेंगे टेलिकॉम सचिव, केजरीवाल के विधायकों पर लगा चुके हैं मारपीट का आरोप

By Aaj Tak calender  01-Aug-2019

अंशु प्रकाश आज बनेंगे टेलिकॉम सचिव, केजरीवाल के विधायकों पर लगा चुके हैं मारपीट का आरोप

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल सरकार के साथ दो-दो हाथ करने वाले सीनियर आईएएस अफसर अंशु प्रकाश आज यानी गुरुवार (1 अगस्त) से नई जिम्मेदारी संभालने जा रहे हैं. 1986 बैच के आईएएस अंशु प्रकाश अब दूरसंचार विभाग के सचिव का पदभार संभालेंगे. वह इससे पहले इसी विभाग में अतिरिक्त सचिव के रूप में पदस्थ थे. अंशु प्रकाश 1982 बैच की आईएएस अरुणा सुंदरराजन के 31 जुलाई को रिटायर होने के बाद दूरसंचार विभाग के सचिव का कार्यभार संभालेंगे.
केंद्रशासित क्षेत्र (यूटी) कैडर के आईएएस अधिकारी अंशु प्रकाश 2017 में 1 दिसंबर को दिल्ली का मुख्य सचिव बनाया गया था. हालांकि दिल्ली के मुख्य सचिव के रूप में उनका कार्यकाल खासा चर्चित रहा क्योंकि केजरीवाल सरकार के साथ उनके रिश्ते बेहद तल्ख हो गए थे. मामला अदालत तक पहुंच गया था.
केजरीवाल के आवास पर मारपीट का आरोप
मुख्य सचिव अंशु प्रकाश पिछले साल 19 फरवरी की देर रात एक बैठक में शामिल होने के लिए मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के आवास पर गए थे. बाद में अंशु प्रकाश ने आरोप लगाया कि केजरीवाल के सामने आम आदमी पार्टी के विधायकों ने उनके साथ मारपीट की थी. मेडिकल रिपोर्ट में भी मुख्य सचिव से मारपीट की पुष्टि हुई थी. यह मामला प्रधानमंत्री ऑफिस (PMO) तक पहुंचा था. आईएएस एसोसिएशन ने इस संबंध में राष्ट्रपति से गुहार लगाई थी.
उनकी शिकायत पर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, उपमुख्यमंत्री मनीष सिसौदिया सहित 13 आप विधायकों पर चार्जशीट दाखिल की गई थी. आम आदमी पार्टी के विधायकों की ओर से की गई मारपीट की जांच करने के लिए घटना के 4-5 दिन बाद साइबर क्राइम और फॉरेंसिक एक्सपर्ट के साथ दिल्ली पुलिस की एक टीम पहुंची थी.
दिल्ली सरकार के एक अधिकारी ने बताया था कि करीब 60 पुलिसकर्मी नई दिल्ली के फ्लैग स्टाफ रोड पर स्थित मुख्यमंत्री के आवास पर बिना किसी पूर्व सूचना के तलाशी लेने पहुंच गए थे. पुलिस की तलाशी के वक्त खुद मुख्यमंत्री अपने आवास पर मौजूद थे. पुलिस ने तलाशी के दौरान सीएम आवास के 21 सीसीटीवी कैमरे जब्त किए थे.
केजरीवाल ने साधा निशाना
पुलिस की ओर से घर पर हुई तलाशी पर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने केंद्र सरकार पर निशाना साधा था. उन्होंने एक ट्वीट कर कहा कि खूब पुलिस मेरे घर भेजी है. मेरे घर की छानबीन चल रही है. बहुत अच्छी बात है. पर जज लोया के कत्ल के मामले में अमित शाह से पूछताछ कब होगी?'

इसके अलावा मीडिया से बात करते हुए सीएम केजरीवाल ने कहा, 'जितनी शिद्दत से इस (मुख्य सचिव) मामले में जांच हो रही है मुझे खुशी है, लेकिन जांच एजेंसियों से कहना चाहता हूं कि जस्टिस लोया के मामले में अमित शाह से भी पूछताछ करने की हिम्मत दिखानी चाहिए.'

 
दिल्ली पुलिस ने कथित मारपीट के मामले में 18 मई को मुख्यमंत्री केजरीवाल से 3 घंटे पूछताछ की थी. मुख्य सचिव के साथ मारपीट के मामले में पिछले साल अक्टूबर में दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट ने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया और आरोपी 11 AAP विधायकों को जमानत दे दी. कोर्ट में मुख्यमंत्री और उपमुख्यमंत्री दोनों ही व्यक्तिगत रूप से पेश हुए. उन्हें 50,000 रुपए के मुचलके पर जमानत दी गई.
पिछले साल नवंबर में हुआ तबादला
इससे पहले पिछले साल नवंबर में अंशु प्रकाश का तबादला केंद्र सरकार के दूरसंचार विभाग में कर दिया गया था. वहां वह एडिशनल सेक्रटरी के रूप में तैनात थे. केंद्र सरकार की अपॉइन्टमेंट कमेटी ऑफ कैबिनेट ने अंशु प्रकाश को दूरसंचार विभाग भेजने का आदेश जारी किया था. अंशु प्रकाश 1986 बैच और अरुणाचल-गोवा-मिजोरम और केंद्र शासित (एजीएमयूटी) कैडर के आईएएस अधिकारी हैं.

MOLITICS SURVEY

क्या आरक्षण पर मोहन भागवत के बयान से चुनावों में बीजेपी को नुकसान होगा?

TOTAL RESPONSES : 30

Raise Your Voice
Raise Your Voice 

Suffering From Problem In Your Area ? Now Its Time To Raise Your Voice And Make Everyone Know