राज्यपाल ने नेताओं-अफ़सरों की हत्या के लिए आतंकियों को क्यों उकसाया?