सोनभद्र: कांग्रेस का आरोप- दोषियों के साथ मिलकर किसानों की जमीन कब्जाना चाहती है BJP
Latest News
bookmarkBOOKMARK

सोनभद्र: कांग्रेस का आरोप- दोषियों के साथ मिलकर किसानों की जमीन कब्जाना चाहती है BJP

By Aaj Tak calender  20-Jul-2019

सोनभद्र: कांग्रेस का आरोप- दोषियों के साथ मिलकर किसानों की जमीन कब्जाना चाहती है BJP

कांग्रेस ने सोनभद्र हत्याकांड मामले में भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) को दोषियों का हमदर्द बताया है. पार्टी प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि सोनभद्र में बीजेपी सरकार ने दोषियों के साथ मिलकर आदिवासी किसानों के खिलाफ साजिश रची. बीजेपी की सरकार आदिवासियों की जमीन को कब्जा करवाना चाहती थी. बता दें कि सोनभद्र कांड में मारे गए लोगों से मिलने के लिए प्रियंका शुक्रवार को आ रही थीं, लेकिन जिला प्रशासन ने उन्हें रास्ते में रोककर हिरासत में ले लिया था और वे चुनार गेस्ट हाउस में रुकी थीं.
कांग्रेस नेता रणदीप सुरजेवाला ने सोनभद्र हत्याकांड मामले को लेकर एक ट्वीट किया जिसमें उन्होंने लिखा कि मानवता को मौत के घाट उतार दिया गया. हम मौन साधे नहीं बैठे रह सकते. मुखरता से हम अन्याय के खिलाफ आवाज उठाते रहेंगे.
वहीं, केंद्रीय अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा कि प्रियंका गांधी के भाई राहुल गांधी ने भट्टा परसौल में फोटो की राजनीति की थी और अब प्रियंका फोटो की राजनीति कर रही हैं.
पीड़ितों ने प्रियंका से की मुलाकात
उधर, सोनभद्र गोलीकांड में मारे गए 10 लोगों के परिवार के सदस्यों से मिलने की जिद पर अड़ीं कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा से पीड़ित परिवार के सदस्यों ने चुनार किला के गेस्ट हाउस में आकर मुलाकात की. चुनार किला के गेस्ट हाउस के बाहर प्रियंका गांधी वाड्रा के साथ कांग्रेस के नेताओं के धरना के बीच में ही गेस्ट हाउस में पीड़ित परिवार को लाया गया. इनमें चार महिलाओं के साथ एक पुरुष भी हैं. इन सभी ने प्रियंका गांधी से भेंट की है. प्रियंका ने इनसे सोनभद्र कांड के बारे में जानकारी ली
चुनार गेस्ट हाउस के बगीचे में पीड़ित परिवार की महिलाओं ने प्रियंका गांधी को देखते ही रोना शुरू कर दिया. इस दौरान प्रियंका भावुक हो गईं. उन्होंने महिलाओं से बातचीत की और उन्हें पानी पीने के लिए कहा
इससे पहले प्रियंका गांधी ने एक वीडियो साझा करते हुए ट्वीट करके योगी सरकार पर निशाना साधा. प्रियंका ने कहा, 'क्या इन आसुओं को पोंछना अपराध है?
उन्होंने कहा, 'राहुल गांधी ने मुझे पीड़ित परिवारों से मिलने को कहा था. वो मेरे नेता हैं और उनके निर्देश पर मैं यहां आई हूं.' प्रियंका गांधी ने प्रदेश की कानून व्यवस्था पर सवाल उठाते हुए कहा, 'योगी सरकार संवेदनहीन है. मैं पीड़ितों के आंसू पोछने आई हूं. इसे अनावश्यक रूप से राजनीतिक रंग दिया जा रहा है.'

MOLITICS SURVEY

क्या आरक्षण पर मोहन भागवत के बयान से चुनावों में बीजेपी को नुकसान होगा?

TOTAL RESPONSES : 25

Raise Your Voice
Raise Your Voice 

Suffering From Problem In Your Area ? Now Its Time To Raise Your Voice And Make Everyone Know