विस चुनाव के 6 माह पहले फेरबदल; इमरान से पर्यावरण एवं वन विभाग छीनकर कैलाश गहलोत को सौंपा
Latest News
bookmarkBOOKMARK

विस चुनाव के 6 माह पहले फेरबदल; इमरान से पर्यावरण एवं वन विभाग छीनकर कैलाश गहलोत को सौंपा

By Bhaskar calender  16-Jul-2019

विस चुनाव के 6 माह पहले फेरबदल; इमरान से पर्यावरण एवं वन विभाग छीनकर कैलाश गहलोत को सौंपा

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने मंत्री इमरान हुसैन से पर्यावरण, वन एवं वन्य जंतु विभाग का चार्ज छीनकर कानून मंत्री कैलाश गहलोत को सौंप दिया है। इमरान हुसैन अब सिर्फ दो विभागों के मंत्री रह गए हैं। उनके पास खाद्य एवं आपूर्ति व चुनाव विभाग की जिम्मेदारी बची है। दिल्ली सरकार में मुख्यमंत्री सहित 7 मंत्री हैं जिसमें केजरीवाल ने बतौर मुख्यमंत्री जल विभाग की जिम्मेदारी अपने पास रखी हुई है।
सबसे ज्यादा 10 विभाग उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया के पास हैं। दूसरे नंबर पर सत्येंद्र जैन के पास 7 विभाग और तीसरे नंबर पर कैलाश गहलोत 6 विभाग के साथ आ गए हैं। आम आदमी पार्टी में सबसे कमजोर मंत्री माने जाने वाले इमरान हुसैन का विभाग घटाए जाने की एक वजह हौजकाजी में हुए तनाव से भी जोड़ी जा रही है।
जो बताया... दिल्ली सरकार के प्रवक्ता के अनुसार वन विभाग सेे जुड़े बहुत से मामले एनजीटी में हैं। उन मामलों की सही से मॉनिटरिंग हो सके इसलिए पर्यावरण, वन एवं वन्य जन्तु विभाग की जिम्मेदारी कानून मंत्री को सौंपी गई है। ऐसा किए जाने से दिक्कतें सामने नहीं आएंगी।
जो छुपाया... 1. हौजकाजी में कथित तौर पर सांप्रदायिक तनाव बढ़ने के आरोप मंत्री इमरान हुसैन पर भी लगे थे। आप इससे बचना चाहती थी। 
2. हुसैन को कोर्ट में चल रहे पर्यावरण विभाग से जुड़े मामलों को ठीक तरह से हैंडल न करने का भी खामियाजा भुगतना पड़ा है। पिछले दिनों एनजीटी के एक आदेश की सही रिपोर्ट वन विभाग की तरफ से पेश नहीं की गई थी। इससे सरकार की बहुत किरकिरी हुई थी।
अब मुश्किल... लोकसभा चुनाव में मुस्लिम मतदाताओं ने कांग्रेस के लिए वोट किया था। ये बात मुख्यमंत्री और मंत्री राजेंद्र पाल गौतम कह चुके हैं। अब विस चुनाव की तैयारी में पार्टियां जुटी हैं। ऐसे में मुस्लिम मंत्री की ताकत कम करने का नुकसान भी आम आदमी पार्टी को हो सकता है।
खाद्य आपूर्ति विभाग में ही है काम: इमरान हुसैन के पास कहने को दो विभाग हैं। लेकिन मंत्री के तौर पर काम सिर्फ खाद्य एवं आपूर्ति विभाग में है। लोकसभा चुनाव के ठीक पहले विधानसभा की कार्यवाही में यह बात भी सामने आ चुकी है कि केंद्रीय चुनाव आयोग के आधीन आने वाले मुख्य निर्वाचन अधिकारी कार्यालय में चुनाव मंत्री के तौर पर कोई बड़ा हस्तक्षेप दिल्ली सरकार के मंत्री का नहीं होता है।
अब इस तरह है विभागों का बंटवारा
सीएम अरविंद केजरीवाल : जल विभाग
मनीष सिसोदिया : शिक्षा, वित्त, योजना, भूमि एवं भवन, सतर्कता, सेवाएं, महिला एवं बाल विकास, पर्यटन, कला संस्कृति एवं भाषा, वो सभी विभाग जो किसी अन्य मंत्री को आवंटित नहीं हैं।
गोपाल राय : राेजगार, विकास, श्रम, सामान्य प्रशासन विभाग।
सत्येंद्र जैन : स्वास्थ्य, उद्योग, लोकनिर्माण, ऊर्जा, गृह, शहरी विकास, सिंचाई एंव बाढ़ नियंत्रण।
कैलाश गहलोत : विधि, न्याय एवं विधायी कार्य, परिवहन, प्रशासनिक सुधार, आईटी, राजस्व, पर्यावरण, वन्य जन्तु।
राजेंद्र पाल गौतम : गुरुद्वारा चुनाव, एससी/एसटी, समाज कल्याण, सहकारिता।

MOLITICS SURVEY

क्या आरक्षण पर मोहन भागवत के बयान से चुनावों में बीजेपी को नुकसान होगा?

TOTAL RESPONSES : 28

Raise Your Voice
Raise Your Voice 

Suffering From Problem In Your Area ? Now Its Time To Raise Your Voice And Make Everyone Know