PM ने किया नीति आयोग का पुनर्गठन, जानिए कौन-कौन शामिल
Latest News
bookmarkBOOKMARK

PM ने किया नीति आयोग का पुनर्गठन, जानिए कौन-कौन शामिल

By TV9 Bharatvarsh calender  07-Jun-2019

PM ने किया नीति आयोग का पुनर्गठन, जानिए कौन-कौन शामिल

न्यूज एजेंसी एएनआई से मिली जानकारी के मुताबिक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नीति आयोग की गवर्निंग काउंसिल की बैठक से पहले नीति आयोग को लेकर बड़ा फैसला लिया है. इस फैसले के मुताबिक, नीति आयोग का पुनर्गठन किया गया है. प्रधानमंत्री मोदी ने इसके लिए मंजूरी दे दी है.
नीति आयोग की गवर्निंग काउंसिल की बैठक 15 जून को होनी है, बैठक की अगुवाई प्रधानमंत्री मोदी करेंगे. ये पांचवी बैठक होगी जब पीएम मोदी नीति आयोग गर्वनिंग काउंसिल की अध्यक्षता करेंगे. इसके साथ ही नई सरकार बनने के बाद नरेंद्र मोदी की अगुवाई वाली यह पहली बैठक है.
मिली जानकारी के मुताबिक एक बार फिर डा. राजीव कुमार इस बैठक के उपाध्यक्ष होंगे. साथ ही अमित शाह गृहमंत्री होने के नाते बैठक के सदस्य होंगे. इसके अलावा रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, कृषि और किसान कल्याण, वित्त और कार्पोरेट कार्य मंत्री निर्मला सीतारमण, ग्रामीण विकास और पंचायती राज मंत्री मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर भी शामिल होंगे.
सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री थावर चंद गहलोत, सड़क परिवहन और राजमार्ग तथा सूक्ष्म, लघु एवं मझोले उद्यम मंत्री नीतिन गडकरी, रेल और वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री पीयूष गोयल, योजना मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) राव इंद्रजीत सिंह इस बैठक में आमंत्रित खास सदस्य होंगे. वहीं वी के सारस्वत, प्रोफेसर रमेश चंद्र और डा. वी के पॉल को नीति आयोग में दोबारा पूर्णकालिक सदस्य का दर्जा मिला है.
कहा जा रहा है कि इस बैठक में जल प्रबंधन, कृषि, पिछड़ा जिला विकास और सुरक्षा से जुड़े विभिन्न मुद्दों पर बातचीत की जाएगी.
प्रधानमंत्री मोदी के कार्यकाल में नीति आयोग की पहली बैठक 8 फरवरी 2015 को, दूसरी 15 जुलाई 2015 को, तीसरी 23 अप्रैल 2017 को और चौथी बैठक 17 जून 2018 को हुई थी.
बता दें कि भारत सरकार ने योजना आयोग की जगह नीति आयोग का गठन किया. 1 जनवरी 2015 को इस नए संस्थांन के संबंध में मंत्रिमंडल का प्रस्ताआव जारी किया गया था. नीति आयोग की अध्यक्षता प्रधानमंत्री करते हैं.

MOLITICS SURVEY

क्या कांग्रेस का महागठबंधन से अलग रह के चुनाव लड़ने की वजह से बीजेपी को पूर्ण बहुमत मिला है?

हाँ
  51.35%
नहीं
  43.24%
अनिश्चित
  5.41%

TOTAL RESPONSES : 37

Raise Your Voice
Raise Your Voice 

Suffering From Problem In Your Area ? Now Its Time To Raise Your Voice And Make Everyone Know