सुप्रीम कोर्ट ने इल्तिजा को अपनी मां महबूबा से मिलने की दी इजाजत, धारा 370 हटने के बाद होगी पहली मुलाकात
Latest News
bookmarkBOOKMARK

सुप्रीम कोर्ट ने इल्तिजा को अपनी मां महबूबा से मिलने की दी इजाजत, धारा 370 हटने के बाद होगी पहली मुलाकात

By Navjivanindia calender  05-Sep-2019

सुप्रीम कोर्ट ने इल्तिजा को अपनी मां महबूबा से मिलने की दी इजाजत, धारा 370 हटने के बाद होगी पहली मुलाकात

सुप्रीम कोर्ट ने इल्तिजा जावेद को अपनी मां महबूबा मुफ्ती से मिलने की इजाजत दे दी है। कोर्ट ने कहा कि महबूबा मुफ्ती की बेटी इल्तिजा अपनी मां से निजी तौर पर मिल सकती है। इल्तिजा अपने हिसाब से मां से नीजि तौर पर मिलने की तारीख भी तय कर सकती हैं।
मॉब लिंचिंग के मामले में झारखंड यूं ही 'बदनाम' नहीं है!
इल्तिजा जावेद ने सुप्रीम कोर्ट में एक याचिका दायर की थी। याचिका में इल्तिजा जावेद ने अपनी मां महबूबा मुफ्ती से मिलने की मांग की थी। उन्होंने अपनी याचिका में कहा था कि अधिकारियों को निर्देश दिया जाए ताकि वे अपनी मां से मिल सकें।
इल्तिजा ने कहा था कि वह अपनी मां की सेहत को लेकर बेहद चिंतित हैं, क्योंकि उनकी उनसे एक महीने से मुलाकात नहीं हुई है। इल्तिजा की याचिका को चीफ जस्टिस रंजन गोगोई और न्यायमूर्ति एसए बोबडे और न्यायमूर्ति एसए नजीर की पीठ के समक्ष सूचीबद्ध किया गया है।
 
गौरतलब है कि जम्मू-कश्मीर से धरा 370 हटाए जाने के बाद महबूबा मुफ्ती और उमर अब्दुल्ला समेत घाटी के कई नेताओं को गिरफ्तार कर लिया गया था। अभी तक किसी भी नेता की रिहाई नहीं हुई है।
इससे पहले महबूबा की बेटी इल्तिजा जावेद ने एक वॉयस मैसेज जारी किया था। इल्तिजा ने वॉयस मैसेज में कहा था, “मुझे भी हिरासत में लिया गया है, और धमकी दी गई है कि अगर मैंने मीडिया से बात की तो अंजाम भुगतने पड़ेंगे।”
इल्तिजा ने वॉयस मैसेज में कहा था कि उनके साथ अपराधी की तरह बर्ताव किया जा रहा है, और लगातार उनके ऊपर नजर रखी जा रही है। उन्होंने कहा कि आवाज उठाने वाले कश्मीरियों के साथ मैं भी जान का खतरा महसूस कर रही हूं। इल्तिजा ने कहा कि मेरे साथ ऐसा इसलिए किया जा रहा है, क्योंकि मैंने मीडिया से पहले बात की थी, और बताया था कि घाटी में कर्फ्यू लगाए जाने के बाद से कश्मीरियों को किस तरह की परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

MOLITICS SURVEY

क्या संतोष गंगवार के बयान का असर महाराष्ट्र चुनाव में होगा ?

हाँ
  50%
नहीं
  50%
पता नहीं
  0%

TOTAL RESPONSES : 2

Raise Your Voice
Raise Your Voice 

Suffering From Problem In Your Area ? Now Its Time To Raise Your Voice And Make Everyone Know