मेट्रो से घरों में दरार, AAP विधायक ने DMRC पर उठाए सवाल
Latest News
bookmarkBOOKMARK

मेट्रो से घरों में दरार, AAP विधायक ने DMRC पर उठाए सवाल

By Aaj Tak calender  01-Sep-2019

मेट्रो से घरों में दरार, AAP विधायक ने DMRC पर उठाए सवाल

देश की राजधानी की लाइफलाइन दिल्ली मेट्रो, क्या रिहायशी इलाकों के लिए एक मुसीबत बन गयी है? दरअसल, आम आदमी पार्टी के मालवीय नगर विधानसभा क्षेत्र से विधायक सोमनाथ भारती ने मेट्रो की वजह से कई घरों में दरार आने की शिकायत DMRC के सामने रखी है. सोमनाथ भारती ने मामले में गंभीरता न दिखाने का आरोप लगाया है.
'आप' विधायक सोमनाथ भारती ने बयान जारी करते हुए कहा, 'जिन रिहायशी इलाकों में अंडरलाइन मेट्रो गुजर रही है वहां दिल्ली मेट्रो प्रशासन ने सावधानी नहीं बरती. दिल्ली मेट्रो को तकनीक का इस्तेमाल करना चाहिए था कि जब मेट्रो गुजरे तो उसके कंपन का असर न हो.
मालवीय नगर विधानसभा क्षेत्र के 4 रिहायशी इलाकों में मेट्रो का असर हुआ है. शिवालिक, बेगमपुर, सर्वप्रिय विहार और हौज खास में कई घर ऐसे यहां मेट्रो की स्पीड और कंपन से दरार आ गई है. सीनियर सिटीजन यहां रहने से डरते हैं, कई लोगों को चोट भी पहुंच चुकी है. पिछले साढ़े 4 साल से  इस विषय को नजरअंदाज कर रही है.

अर्थव्यवस्था: बर्बाद हो रहे अर्जेंटीना से भारत की तुलना क्यों
आगे सोमनाथ भारती ने दिल्ली मेट्रो प्रशासन के साथ हुई एक बैठक का जिक्र भी किया है. सोमनाथ भारती ने बताया कि 26 अगस्त को एक बैठक में दिल्ली मेट्रो रेल प्रशासन (DMRC) ने माना है कि मेट्रो के चलने से घरों को नुकसान हुआ है. नुकसान की भरपाई के लिए दिल्ली मेट्रो इंजीनियर को भेजने का वादा किया हैं. इसके अलावा साकेत में रहने वाले एक परिवार ने हाइकोर्ट का रुख किया है, जिसमे हाइकोर्ट ने IIT दिल्ली को पूरे मामले में स्टडी करने के आदेश दिए हैं कि किस तरह मेट्रो का कंपन कैसे घरों को नुकसान पहुंचा रहा है और इसका क्या समाधान है.
मालवीय नगर से आम आदमी पार्टी के विधायक सोमनाथ भारती का आरोप है कि तकनीक के जमाने मे भी DMRC बिल्कुल दिलचस्पी नहीं ले रहा है. विधायक ने DMRC चेयरमैन से अपील करते हुए कहा कि उनके क्षेत्र के सीनियर सिटीजन बेहद परेशान हैं, इस समस्या का समाधान निकाला जाए.
पूरे मामले में आजतक  ने डीएमआरसी यानी दिल्ली मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन से भी मकानों में आ रही दरारों पर बात की. दिल्ली मेट्रो ने भी ये माना कि उसे वाइब्रेशन से जुड़ी शिकायतें मिली हैं. जिसके बाद काफी हद तक ऐसे इलाकों से गुजरने वाली मेट्रो की स्पीड को कम किया गया है ताकि वाइब्रेशन कम हो सके. साथ ही डीएमआरसी ने ने ये भी कहा है कि वो अलग-अलग जगहों पर मशीनों के जरिए वाइब्रेशन की जांच करवा रही है. फिलहाल मेट्रो ने ये भी कहा है कि जिन मकानों के अंदर मेट्रो के चलते दरारे हैं वो सेफ जोन में है.

MOLITICS SURVEY

क्या संतोष गंगवार के बयान का असर महाराष्ट्र चुनाव में होगा ?

हाँ
  50%
नहीं
  50%
पता नहीं
  0%

TOTAL RESPONSES : 2

Raise Your Voice
Raise Your Voice 

Suffering From Problem In Your Area ? Now Its Time To Raise Your Voice And Make Everyone Know