मुश्किल में शशि थरूर, पुलिस ने हत्या का केस दर्ज करने की कोर्ट से मांगी इजाजत
Latest News
bookmarkBOOKMARK

मुश्किल में शशि थरूर, पुलिस ने हत्या का केस दर्ज करने की कोर्ट से मांगी इजाजत

By AajTak calender  31-Aug-2019

मुश्किल में शशि थरूर, पुलिस ने हत्या का केस दर्ज करने की कोर्ट से मांगी इजाजत

दिल्ली पुलिस ने सुनंदा पुष्कर की मौत मामले में पूर्व केंद्रीय मंत्री शशि थरूर के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज करने की इजाजत मांगी है. दिल्ली की राउज एवेन्यू कोर्ट में सुनवाई के दौरान पुलिस ने कहा कि सुनंदा पुष्कर और शशि थरूर की यह तीसरी शादी थी. सुनंदा पुष्कर के बेटे शिव मेनन ने एसडीएम को दिए बयान में कहा था कि मेरी मां सुनंदा पुष्कर एक मजबूत इरादों वाली महिला थी. वो कभी आत्महत्या नहीं कर सकतीं.
पुलिस ने कोर्ट के समक्ष दलील दी कि सुनंदा पुष्कर के भाई ने भी बयान दिया था कि वो अपनी शादीशुदा जिंदगी से तो खुश थीं, लेकिन मौत से कुछ दिन पहले से शादीशुदा जिंदगी को लेकर तनाव में थीं. सुनंदा पुष्कर के भाई ने कहा था कि उन्होंने जो मेल लिखा था, उससे जाहिर होता है कि वो मेंटल प्रेशर में थीं. सुनंदा ने अपने लेख में कहा था कि वो साहब को नहीं छोड़ेगी.
यह भी पढ़ें: क्या पी चिदंबरम के बाद अगला नंबर अहमद पटेल का है?
दिल्ली पुलिस ने कोर्ट को यह भी बताया कि नौकर ने भी अपने बयान में कहा था कि सुनंदा पुष्कर और शशि थरूर के बीच लड़ाई होती थी. दुबई में भी दोनों के बीच खूब लड़ाई हुई थी. दोनों के बीच यह झगड़ा किसी लड़की को लेकर हुआ था. त्रिवेंद्रम से आते समय और विमान का दरवाजा खुलने तक सुनंदा पुष्कर रोती रहीं. उस दिन फिर दोनों के बीच झगड़ा हुआ था. इसके बाद उसी दिन साढ़े चार बजे सुनंदा पुष्कर ने किसी से बात की थी और अपना शूट मंगाया था. पुष्कर ने कहा था कि उन्होंने शूट प्रेस कॉन्फ्रेंस करने के लिए मंगाया है.
मेहर तरार को लेकर सुनंदा पुष्कर और शशि थरूर में हुई थी लड़ाई
सुनंदा पुष्कर ने मौत से पहले नलिनी सिंह से कहा था कि उसने शशि थरूर के बीबीएम चैट से मैसेज देखा था, जिसमें मेहर तरार के साथ रोमांटिक मैसेज शेयर किए गए थे. साथ ही सुनंदा को तलाक देने की बात कही गई थी. मेहर तरार को लेकर शशि थरूर और सुनंदा पुष्कर के बीच झगड़ा हुआ था. उस दिन सुबह चार बजे तक दोनों के बीच लड़ाई होती रही, जिसके बाद मैडम सुनंदा पुष्कर होटल में चली गई थीं.
सुनंदा पुष्कर ने नलिनी से फोन पर रोया था अपना दुखड़ा
दिल्ली पुलिस ने कोर्ट में कहा कि सुनंदा पुष्कर ने मौत से पहले पत्रकार नलिनी सिंह को बताया था कि दुबई में शशि थरूर मेहर तरार के साथ रात में थे. मैसेज में पाकिस्तानी पत्रकार मेहर तरार से शादी करने की भी बात थी. नलिनी सिंह ने बताया था कि 16 जनवरी 2014 को जब वो टीवी शो देख रही थीं, तभी उनके पास सुनंदा पुष्कर का फोन आया था और फोन पर लगातार रो रही थीं.
सुनंदा ने नलिनी को बताया था कि जब वो शशि थरूर के साथ त्रिवेंद्रम से फ्लाइट से आ रही थीं, तभी शशि थरूर टॉयलेट गए थे और उसने (सुनंदा पुष्कर) मैसेज चेक किया, तो पाया कि शशि थरूर लगातार मेहर तरार के सम्पर्क में थे. वहीं, शनिवार को राउज एवेन्यू कोर्ट में सुनवाई के दौरान शशि थरूर के वकील ने दिल्ली पुलिस की दलीलों पर एतराज जताया और कहा कि दिल्ली पुलिस रिकॉर्ड में दर्ज बातों को अदालत के सामने रखें. पुलिस रिकॉर्ड के बाहर की बातें ना करें.
सुनंदा पुष्कर को जहर दिए जाने की आशंका
दिल्ली पुलिस के मुताबिक सुनंदा पुष्कर के दोस्त सुनील टकरू का बयान था कि पाकिस्तानी पत्रकार मेहर तरार को लेकर सुनंदा पुष्कर का शशि थरूर से झगड़ा हुआ था. सुनंदा पुष्कर ने शशि थरूर को एक्सपोज करने की धमकी दी थी. पाकिस्तानी पत्रकार तरार को लेकर सुनंदा पुष्कर काफी तनाव में थीं. इसके बाद सुनंदा पुष्कर ने या तो जहर खुद खाया या फिर उनको जहर दिया गया. सुनंदा पुष्कर को कार्डियक प्रॉब्लम नहीं थी और न ही उनको शुगर प्रॉब्लम थी. इसका खुलासा मेडिकल रिपोर्ट में भी हुआ था. पहली पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में अल्प्राजोलम प्वॉइजनिंग की बात सामने आई थी. सुनंदा पुष्कर के शरीर पर 15 चोट के निशान मौत के पहले के थे.
सुनंदा पुष्कर ने टेंशन के चलते छोड़ दिया था खाना
दिल्ली पुलिस के मुताबिक सुनंदा पुष्कर को या तो जहर खिलाया गया या फिर इंजेक्शन के जरिए दिया गया. फॉरेंसिक साइंस ऑटोप्सी एनालिसिस रिपोर्ट में खुलासा हुआ था कि सुनंदा पुष्कर मेंटल टेंशन में थीं और कई दिनों से खाना तक छोड़ दिया था.  वो लगातार स्मोकिंग कर रही थीं. उन्होंने पति शशि थरूर से परेशानी की बात कही थी. यह नेचुरल डेथ नहीं थी. दिल्ली पुलिस ने थरूर के खिलाफ कोर्ट से कहा कि अगर अदालत चाहे तो इस मामले में हत्या जैसे गंभीर मामले दर्ज करने की इजाजत दे सकता है. अब इस मामले में अगली सुनवाई 17 अक्टूबर को होगी और शशि थरूर के वकील अपना पक्ष रखेंगे.

MOLITICS SURVEY

'ओला-ऊबर के कारण ऑटो सेक्टर में मंदी' - क्या निर्मला सीतारमण के इस बयान से आप सहमत है ?

TOTAL RESPONSES : 53

Raise Your Voice
Raise Your Voice 

Suffering From Problem In Your Area ? Now Its Time To Raise Your Voice And Make Everyone Know