Jharkhand Assembly Election 2019: झारखंड की 10 से 12 सीटों पर राजद की नजर
Latest News
bookmarkBOOKMARK

Jharkhand Assembly Election 2019: झारखंड की 10 से 12 सीटों पर राजद की नजर

By Jagran calender  31-Aug-2019

Jharkhand Assembly Election 2019: झारखंड की 10 से 12 सीटों पर राजद की नजर

बिहार के नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने आसन्न चुनाव में झारखंड विधानसभा की 10 से 12 सीटों पर राजद का प्रत्याशी उतारे जाने के संकेत दिए हैं। उन्होंने कहा है कि जहा जिस दल का मजबूत जनाधार हो, वहा बिना किसी ईगो के उसे प्राथमिकता मिलनी चाहिए। इस मसले पर वे स्वयं विपक्ष के शीर्ष नेताओं के साथ मंत्रणा करेंगे। उन्होंने कहा कि पिछले चुनाव में विपक्षी दलों में तालमेल नहीं बैठ पाने के कारण झारखंड में भाजपा की सरकार सत्ता में आ गई। यह गलती फिर दोहराई न जाए।
तेजस्वी शुक्रवार को प्रदेश राजद कार्यालय में मीडिया से मुखातिब थें। तेजस्वी ने इस दौरान जमकर रघुवर सरकार पर भड़ास निकाली। उन्होंने कहा कि डबल इंजन की सरकार का एक हिस्सा भ्रष्टाचार और दूसरा अपराध में लिप्त है। सरकार ने झारखंड को पूंजीपतियों के हाथ बेच डाला है। यहा माफिया राज और गुंडाराज कायम है। मॉब लिंचिंग की घटना बढ़ी है। अपराध का ग्राफ बढ़ा है। आदिवासियों के अधिकारों का हनन हुआ है।
 
उद्घाटन के महज 12 घंटे में कोनार डैम के एक हिस्से के बाद जाने पर उन्होंने कहा कि यह रघुवर दास की सरकार की चुनावी बौखलाहट है। आनन-फानन में वे उदघाटन का रिकॉर्ड कायम करना चाहते हैं। फिर गड़बड़ियां तो होंगी ही। इससे पूर्व तेजस्वी ने राजद कार्यकर्ताओं के साथ विधानसभा चुनाव की तैयारियों पर मंत्रणा की। प्रदेश अध्यक्ष अभय कुमार सिंह की अध्यक्षता में हुई इस बैठक में झारखंड में राजद की न्याय यात्रा निकाले जाने पर मंत्रणा हुई।
 
देश को कंगाली की ओर ले जा रहे मोदी 
तेजस्वी ने इस दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर भी निशाना साधा। कहा कि देश ने जो दौर पिछले 70 वषरें में नहीं देखा, उन्होंने 70 महीनों में दिखा दिया। उन्होंने देश को कंगाली के द्वार पर लाकर खड़ा कर दिया है। रिजर्व बैंक से भारी भरकम राशि लेने की बात इसकी बानगी है। यह राशि लौटेगी भी या नहीं, बड़ा सवाल है। आर्थिक मंदी का यह दौर चिंतनीय है, नीति आयोग और आरबीआई तक ने इस पर चिंता जताई है।
 
बीएसएनएल और एयर इंडिया को निजी हाथों में सौंपने का मसौदा तैयार कर चुकी केंद्र सरकार की नजर अब एनएचआई पर है। ऐसे में जो भी सरकार आगे सत्ता में आएगी, देश चलाना उसके लिए मुश्किल हो जाएगा। भ्रष्टाचार के विरुद्ध बोलने पर विपक्ष के लोग सलाखों के पीछे पहुंचा दिए जा रहे हैं, यदुरप्पा जैसे लोगों पर उनकी नजर नहीं जाती। भाजपा सिर्फ पार्टी और उसके लोगों का काम करना जानती है
 
बिहार में दूल्हा तैयार है, वक्त आने पर होगा खुलासा
विधानसभा चुनाव में बिहार में मुख्यमंत्री का चेहरा कौन होगा, यह पूछने पर उन्होंने दो टूक कहा कि यह तो नीतीश भी नहीं जानते कि भाजपा किस ओर करवट लेगी और उनका क्या होगा? वैसे झारखंड की ही तरह बिहार में भी हम मिलकर लड़ेंगे। तैयारी अभी से शुरू कर दी गई है। दूल्हा तैयार है, सब जनता के हाथ है। मुख्यमंत्री का चेहरा कौन होगा, समय पर पता चल जाएगा। झारखंड और बिहार में जीत के प्रति कितने आश्वस्त हैं, इस सवाल पर उन्होंने कहा, हार के बाद ही जीत है।

MOLITICS SURVEY

'ओला-ऊबर के कारण ऑटो सेक्टर में मंदी' - क्या निर्मला सीतारमण के इस बयान से आप सहमत है ?

हाँ
  20.75%
नहीं
  69.81%
कुछ कह नहीं सकते
  9.43%

TOTAL RESPONSES : 53

Raise Your Voice
Raise Your Voice 

Suffering From Problem In Your Area ? Now Its Time To Raise Your Voice And Make Everyone Know