पंचायत चुनाव से पहले निकाय चुनाव में कांग्रेस को सता रहा 'धारा 370' का डर!
Latest News
bookmarkBOOKMARK

पंचायत चुनाव से पहले निकाय चुनाव में कांग्रेस को सता रहा 'धारा 370' का डर!

By News18 calender  29-Aug-2019

पंचायत चुनाव से पहले निकाय चुनाव में कांग्रेस को सता रहा 'धारा 370' का डर!

राजस्थान में नवंबर में होने वाले शहरी निकाय चुनाव (Nikay Chunav) को लेकर पीसीसी (Rajasthan Pradesh Congress Committee) में हुई तैयारी बैठक में धारा 370 (Article 370) का मुद्दा छाया रहा. पीसीसी चीफ सचिन पायलट (Sachin Pilot) की अध्यक्षता में हुई बैठक में जब नेताओं को बोलने का मौका दिया तो धारा 370 पर उनका दर्द फूट पड़ा. परिवहन मंत्री प्रतापसिंह खाचरियावास ने धारा 370 पर खुलकर बात रखने की दलील दी. इस पर कांग्रेस नेता और पूर्व चिकित्सा मंत्री एए खान उर्फ दुर्रू मियां ने कहा कि धारा 370 पर पार्टी का स्टेंड साफ नहीं है, अध्यक्ष कुछ बोलते हैं तो बाकी नेता कुछ.

क्यों जी7 शिखर सम्मेलन का अंत भारत सहित सभी के लिए उम्मीद से ज्यादा सुखद रहा है

दुर्रू मिया ने मुद्दा उठाया तो पायलट ने टोका

दुर्रू मिया ने कहा कि कभी जयराम रमेश और शशि थरूर पीएम की तारीफ करने की बात कहते हैं जबकि राहुल गांधी और कांगेस अध्यक्ष के बयान अलग हैं. हम जनता को जवाब क्या दें, जनता हमसे पूछती है. दुर्रु मियां को इस पर सचिन पायलट ने टोका और  कहा कि स्थानीय निकाय चुनाव में यह मुद्दा नहीं है  स्थानीय मुद्दे होते हैं, उनकी बात कीजिए. पायलट के टोकने के बाद भी दुर्रू मियां ने बोलना जारी रखा और धारा 370 पर पार्टी का रुख साफ करने की दलील देते हुए निकाय चुनाव में इसससे नुकसान होने की बात कही.

शांति धारीवाल ने कहा, निकाय चुनाव में नहीं भेजे जाएं पर्यवेक्षक

बैठक मेें यूडीएच मंत्री शांति धारीवाल ने  निकाय चुनाव में फील्ड में  पर्यवेक्षक नहीं भ्श्रेजने का सुझाव दिया. धारीवाल ने साफ तौर पर कहा कि पर्यपेक्षक बनाकर भेजे जाने वाले नेता खेल करते हैं, इसलिए परूवेक्षक न भेजे जाएं तो ह बेहतर है. पीसीसी चीफ और डिप्टी सीएम सचिन पायलट ने 52 शहरी निकायों से जुड़े पार्टी पदाधिकारियों और कांग्रेस नेताओं को निकाय चुनाव की तैयारी में जुटने का टास्क दिया है.

सचिन पायलट ने कांग्रेस नेताओं को अभी से टारगेट बनाकर काम शुरू करने के निर्देश दिए साथ ही सरकार की उपलब्धियों को जनता तक पहुचाने और टॉकिंग पॉइंट वनाने को कहा ताकि भाजपा को फील्ड में जवाब दिया जा सके. बैठक में डिप्टी सीएम सचिन पायलट ने कहा, यह अहम चुनाव है, एकजुटता के साथ सब मिलकर चुनाव में काम करें, पार्टी नेता निकाय चुनाव पर अपनी राय भी दें, संगठन को अभी से कम शुरू करना है, संगठन को मजबूत करके धरातल पर मजबूती से चुनाव लड़ना है, लोगों की समस्याओं के समाधान पर ध्यान केंद्रित करें.

MOLITICS SURVEY

क्या संतोष गंगवार के बयान का असर महाराष्ट्र चुनाव में होगा ?

हाँ
  50%
नहीं
  50%
पता नहीं
  0%

TOTAL RESPONSES : 2

Raise Your Voice
Raise Your Voice 

Suffering From Problem In Your Area ? Now Its Time To Raise Your Voice And Make Everyone Know