साहेबगंज में 'बदलाव का बिगुल' फूंकेंगे हेमंत, बोले- जनता ने बना लिया है मन
Latest News
bookmarkBOOKMARK

साहेबगंज में 'बदलाव का बिगुल' फूंकेंगे हेमंत, बोले- जनता ने बना लिया है मन

By News18 calender  26-Aug-2019

साहेबगंज में 'बदलाव का बिगुल' फूंकेंगे हेमंत, बोले- जनता ने बना लिया है मन

आने वाले विधानसभा चुनाव (Jharkhand Assembly Election) के मद्देनजर झारखंड मुक्ति मोर्चा (जेएमएम) (JMM) आज से बदलाव यात्रा (Badlaw Yatra) शुरू करने जा रहा है. इसके लिए पार्टी के कार्यकारी अध्यक्ष व नेता प्रतिपक्ष हेमंत सोरेन (Hemant Soren) साहेबगंज पहुंच चुके हैं. यहां वे सिदो- कान्हो की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर यात्रा की शुरुआत करेंगे. इससे पहले रेलवे जेनरल इंस्टीट्यूट में जनसभा को भी संबोधित करेंगे. इस दौरान पूर्व मंत्री लोबिन हेम्ब्रम समेत पार्टी के कई विधायक भी मौजूद रहेंगे. हालांकि डेंगू के चलते राजमहल सांसद विजय हांसदा सभा में शामिल नहीं हो पाएंगे. वह फिलहाल कोलकाता में अपना इलाज करवा रहे हैं.

'जनता ने बदलाव का मन बना लिया है'

साहेबगंज जाने के लिए हेमंत सोरेन ने रांची स्टेशन पर वनांचल एक्सप्रेस पकड़ी. इस दौरान न्यूज- 18 से
एक्सक्लुसिव बातचीत में उन्होंने कहा कि इस बार राज्य की जनता ने बदलाव का मन बना लिया है. सरकार की जनविरोधी नीतियां और लॉ एंड आर्डर की खस्ताहाल स्थिति सहित कई मुद्दों को लेकर वे बदलाव यात्रा पर निकले रहे हैं.
झारखंड में जेडीयू के सिम्बल तीर के फ्रीज होने पर हेमन्त सोरेन ने कहा कि जानबूझ कर जेडीयू षड्यंत्र कर रहा था. जेएमएम समर्थकों को दुविधा में डालकर बीजेपी को फायदा पहुंचाने की कवायद हो रही थी.

झारखंड में जेडीयू का 'तीर' फ्रीज 

एनडीए से अलग जाकर झारखंड विधानसभा चुनाव में अपनी किस्मत आजमाने का ऐलान कर चुके नीतीश कुमार का 'तीर' झारखंड में निशाने से भटक गया है. विधानसभा चुनाव से ठीक पहले चुनाव आयोग ने जेडीयू का सिंबल झारखंड में फ्रीज कर दिया है. अब जेडीयू का कोई भी उम्मीदवार 'तीर' चुनाव चिन्ह के साथ झारखंड विधानसभा चुनाव में नहीं उतर पाएगा

आयोग ने यह फैसला झारखंड मुक्ति मोर्चा की उस शिकायत के बाद लिया है, जिसमें जेएमएम ने यह शिकायत दर्ज कराई थी कि उनकी पार्टी का चुनाव चिन्ह तीर- धनुष है. लिहाजा जेडीयू को 'तीर' चुनाव चिन्ह के साथ विधानसभा चुनाव लड़ने की इजाजत न दी जाए. चुनाव आयोग ने जेएमएम की तरफ से 24 जून को की गई शिकायत पर फैसला लेते हुए जेडीयू का सिंबल झारखंड में फ्रिज कर दिया.

MOLITICS SURVEY

क्या संतोष गंगवार के बयान का असर महाराष्ट्र चुनाव में होगा ?

हाँ
  50%
नहीं
  50%
पता नहीं
  0%

TOTAL RESPONSES : 2

Raise Your Voice
Raise Your Voice 

Suffering From Problem In Your Area ? Now Its Time To Raise Your Voice And Make Everyone Know