गुरुग्राम के ज्योतिगिरी महाराज पर लगे नाबालिग लड़कियों के साथ यौन शोषण के आरोप
Latest News
bookmarkBOOKMARK

गुरुग्राम के ज्योतिगिरी महाराज पर लगे नाबालिग लड़कियों के साथ यौन शोषण के आरोप

By ThePrint (Hindi) calender  20-Aug-2019

गुरुग्राम के ज्योतिगिरी महाराज पर लगे नाबालिग लड़कियों के साथ यौन शोषण के आरोप

ज्योति यादव: हरियाणा के गुरुग्राम के बहोड़ा कलां गांव के बाबा ज्योतिगिरी महाराज पर महिलाओं और नाबालिग बच्चियों के साथ कथित यौन शोषण की शिकायत दर्ज हुई है. शिकायत दर्ज कराने वाले आम आदमी पार्टी की हरियाणा ईकाई के मीडिया प्रभारी सुधीर यादव का कहना है कि एक हफ्ते से पहले से वायरल हो रहे वीडियोज के बावजूद पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की जिसके बाद उन्होंने मामले पर संज्ञान लिया.
सोमवार को गुरुग्राम साइबर पुलिस ने भी इस मामले में एक वीडियो फैलाने वाले के खिलाफ ही एफआईआर दर्ज की है. 13 अगस्त को बाबा के वीडियोज के आने के बाद से ही ज्योतिगिरी महाराज फरार है.
गौरतलब है कि सोशल मीडिया पर फैले वीडियो में एक महिला ने आरोप लगाया है, ‘ज्योतिगिरी महाराज ने उससे जबरदस्ती संबंध बनाए.’ साथ ही महिला ने यह भी आरोप लगाया है, ‘ज्योतिगिरी महाराज सैंकड़ों नाबालिग बच्चियों के साथ यौन शोषण कर चुका है. महिला ने सोशल मीडिया पर अपने मैसेज में लिखा है कि वह, कम से कम दस बारह लड़कियां बाबा के खिलाफ शिकायत दर्ज कराने को तैयार हैं लेकिन उनकी जान को खतरा है.
महिला का दावा है कि उसके पास ज्योतिगिरी महाराज के ऐसे 600 वीडियो हैं जिनमें वह नाबालिग लड़कियों के साथ यौन शोषण करता हुआ नज़र आ रहा है.
यह भी पढ़ें: मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने हुड्डा पर बोला हमला, कहा- न नौ मन तेल होगा न राधा नाचेगी
आम आदमी पार्टी के सुधीर यादव ने अपनी शिकायत की कॉपी राष्ट्रीय महिला आयोग, हरियाणा महिला आयोग, मुख्यमंत्री कार्यालय भी भेज दी है. दिप्रिंट से बात करते हुए उन्होंने कहा, ‘ये मामला गंभीर है. ज्योतिगिरी महाराज के राजनीतिक लोगों से अच्छे संबंध हैं. मामले पर पुलिस का रवैया भी संदेहास्पद है.
लेकिन साइबर पुलिस ने ज्योतिगिरी महाराज के नाम से इन वीडियोज को सोशल मीडिया पर वायरल कराने वाले के खिलाफ ही मामला दर्ज कर लिया है. गुरुग्राम पुलिस के एसीपी करण गोयल ने दिप्रिंट को बताया, ‘कथित वीडियो में दिखाई दे रही एक महिला के पति ने एफआईआर दर्ज करवाई है कि उनकी पत्नी के फर्जी वीडियो चलाए जा रहे हैं. महिलाओं के खिलाफ अपराध कानून के तहत इसपर कार्रवाई की जाएगी. हमने आईटी कानून की धारा 67 (ए) (कंप्यूटर या किसी अन्य माध्यम से अश्लील संदेश भेजना)   और आईपीसी की धारा 509 (महिला की गरिमा को ठेस पहुंचाना) के तहत मामला दर्ज कर लिया है. पुलिस अभी वीडियोज की जांच कर रही है.’
कौन हैं ज्योतिगिरी महाराज
ज्योतिगिरी महाराज के बारे में अफवाह है कि वह आईएएस की नौकरी छोड़कर बैरागी बन गए हैं. दक्षिण हरियाणा में उनकी तीन गोशालाएं हैं. गांव के सरपंच यजविंदर से मिली जानकारी के मुताबिक बाबा के उज्जैन, काशी, गुरुग्राम और हरिद्वार जैसे शहरों में कई आश्रम भी हैं. इन गोशालाओं में दुर्घटना में घायल हुई, भूखी और बीमार गाएं रखी जाती हैं. लाखों के चंदे और अनाज की बोरियों से ये गोशालाएं भरी रहती हैं. गुरुग्राम के आश्रम के पीछे एक अस्पताल भी है. यूट्यूब पर कई वीडियोज हैं जिनमें वो राम मंदिर जैसे मुद्दों के पक्ष में बोलते नजर आ रहे हैं.
यह भी पढ़ें: राम रहीम पर फैसला सुनाने वाले जज जगदीप सिंह करेंगे अब वित्तमंत्री आवास पर आगजनी केस की सुनवाई
हरियाणा के बड़े बड़े नेता हैं बाबा के भक्त
बहोड़ा कलां गांव के 100-150 लोग मिलकर बुधवार को पुलिस थाने जाकर बाबा के खिलाफ एफआईआर की मांग करेंगे और बंद का आह्वान किया है. गांव के व्यक्ति बॉबी चौहान ने दिप्रिंट को बताया,’ गांव में तनाव को देखते हुए बाबा के आश्रम के आस-पास पुलिस की गश्त बढ़ा दी गई है. इस मामले में 15 अगस्त को पंचायत भी बुलाई गई थी. बाबा की सहयोगी रही गांव की एक और महिला भी फरार है.’
बॉबी चौहान आगे कहते हैं, ‘पिछले बीस साल से ये बाबा इस गांव में रह रहा है. दिल्ली, गुरुग्राम और हरियाणा से लोग इसके पास आते हैं. गांव के लोगों को सरपंच पर विश्वास नहीं है, वो बाबा की वजह से ही सरपंच बना था.’
वहीं, गांव के सरपंच के मुताबिक खट्टर सरकार के कैबिनेट मंत्रियों से लेकर इनेलो, कांग्रेस के नेता भी बाबा के करीबी हैं. गुरुग्राम के सांसद राव इंद्रजीत से लेकर भाजपा नेता संतोष यादव, राव नरबीर और रामबिलास शर्मा भी बाबा के पास आते देखे जाते हैं.
राम रहीम केस के बाद ग्रामीण ज्योतिगिरी महाराज पर सख्त कार्रवाई करने के लिए एकजुट हो रहे हैं. गांव के अन्य युवक ने गुरुग्राम पुलिस कमिश्नर और चंडीगढ़ हाईकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश को ज्योतिगिरी महाराज के खिलाफ शिकायत पत्र भेजा हुआ है. उन्होंने बताया, ‘कई लड़कियां वीडियो में चेहरा आने की वजह से सदमें में है. वो कोई गलत कदम उठाएं उससे पहले प्रशासन को उचित कार्रवाई करनी चाहिए. गांव के लोग बदनामी की वजह से लड़कियों के नाम छुपा रहे हैं.’

MOLITICS SURVEY

क्या संतोष गंगवार के बयान का असर महाराष्ट्र चुनाव में होगा ?

हाँ
  50%
नहीं
  50%
पता नहीं
  0%

TOTAL RESPONSES : 2

Raise Your Voice
Raise Your Voice 

Suffering From Problem In Your Area ? Now Its Time To Raise Your Voice And Make Everyone Know