SYL पर अब पंजाब के नेता आपस में ही भिड़े, सुखबीर की सलाह पर अमरिंदर को आया 'गुस्‍सा'
Latest News
bookmarkBOOKMARK

SYL पर अब पंजाब के नेता आपस में ही भिड़े, सुखबीर की सलाह पर अमरिंदर को आया 'गुस्‍सा'

By Jagran calender  18-Aug-2019

SYL पर अब पंजाब के नेता आपस में ही भिड़े, सुखबीर की सलाह पर अमरिंदर को आया 'गुस्‍सा'

सतलुज-यमुना लिंक नहर को लेकर पंजाब के नेताओं में फिर घमासान शुरू हो गया है। इस मुद्दे पर कांग्रेस और शिरोमणि अकाली दल के बीच सियासी जंग छिड़ गई है। मुख्‍यमंत्री कैप्‍टन अमरिंदर सिंह और शिअद नेता सुखबीर सिंह बादल के बीच ट्वीट वार से पंजाब की सियासत गर्मा गई है। सुखबीर बादल ने मुख्‍यमंत्री को एसवाईएल पर होनेवाली किसी बैठक में भाग ने लेने की सलाह दी तो कैप्‍टन को गुस्‍सा आ गया। उन्‍होंने जवाब दिया कि मुझे सलाह न दें।
यह घमासान दिल्ली में पंजाब व हरियाणा के मुख्य सचिवों की एसवाईएल को लेकर हुई मीटिंग के बाद शिरोमणि अकाली दल के प्रधान व सांसद सुखबीर बादल के एक ट्वीट के बाद शुरू हुआ। सुखबीर ने सरकार को चेताते हुए कहा कि पंजाब सरकार एसवाईएल को लेकर होने वाली किसी भी बैठक में शामिल होने की जरूरत नहीं है।उन्होंने सरकार को चेतावनी दी कि वह नदियों के पानी को लेकर किसी भी दबाव में न आएं। उन्होंने कहा कि शिअद का स्टैंड साफ है कि पंजाब के पास किसी को भी देने के लिए एक बूंद पानी नहीं है।
कैप्टन अमरिंदर सिंह ने ट्वीट कर कहा कि एसवाईएल को लेकर मुझे सुखबीर सलाह न दें और उनका पानी के मामले में मुझे सलाह देना हास्यास्पद है। उन्होंने कहा कि 2004 में उन्होंने ही पंजाब के पानी को बचाने के लिए पंजाब टर्मिनेशन आफ एग्रीमेंटस एक्ट बनाया था और नदियों के पानी को लेकर सभी समझौतों को रद कर दिया था। मुझे इससे ज्यादा कुछ कहने की जरूरत नहीं है।
कैप्‍टन ने कहा, मेरे लिए पंजाब पहले है। मुख्यमंत्री ने एक और ट्वीट करते हुए सुखबीर बादल से कहा कि हरियाणा के मुख्यमंत्री चौधरी देवीलाल ने तो मई 1978 में विधानसभा में ही कहा था कि आपके पिता ने एसवाईएल के लिए खरीदी जाने वाली जमीन की नोटिफिकेशन जारी की थी और इसके लिए हरियाणा सरकार की ओर से दिया गया एक करोड़ रुपये वसूल किए थे। उन्होंने कहा कि सुखबीर को तो इस मामले में बोलने का कोई अधिकार ही नहीं है। उन्होंने कहा, यह मुझ पर छोड़ दें, पंजाब का पानी पंजाब में ही रहेगा।

MOLITICS SURVEY

क्या संतोष गंगवार के बयान का असर महाराष्ट्र चुनाव में होगा ?

हाँ
  50%
नहीं
  50%
पता नहीं
  0%

TOTAL RESPONSES : 2

Raise Your Voice
Raise Your Voice 

Suffering From Problem In Your Area ? Now Its Time To Raise Your Voice And Make Everyone Know