जनजातीय विवि की स्थापना के लिए बहरागोड़ा सही जगह : द्रौपदी मुर्मू
Latest News
bookmarkBOOKMARK

जनजातीय विवि की स्थापना के लिए बहरागोड़ा सही जगह : द्रौपदी मुर्मू

By PrabhatKhabar calender  18-Aug-2019

जनजातीय विवि की स्थापना के लिए बहरागोड़ा सही जगह : द्रौपदी मुर्मू

राज्यपाल सह कुलाधिपति द्रौपदी मुर्मू ने राज्य में जनजातीय विवि की स्थापना के लिए बहरागोड़ा को उपयुक्त स्थल माना है. उन्होंने राज्य के उच्च शिक्षा विभाग के अधिकारियों को इस दिशा में अग्रतर कार्रवाई करने का निर्देश दिया. उन्होंने कहा है कि बहरागोड़ा झारखंड के साथ-साथ पश्चिम बंगाल अौर अोड़िशा के निकटवर्ती है. इससे कई राज्यों के विद्यार्थियों को लाभ होगा.
राज्यपाल शनिवार को राजभवन में उच्च शिक्षा विभाग के अधिकारियों के साथ बैठक कर रही थीं. मौके पर उच्च शिक्षा प्रधान सचिव शैलेश कुमार सिंह, राज्यपाल के प्रधान सचिव सतेंद्र सिंह, उच्च शिक्षा निदेशक शैलेश कुमार चौरसिया, तकनीकी शिक्षा निदेशक अरुण कुमार, सिदो-कान्हू मुर्मू विवि के कुलपति डॉ एमपी सिन्हा सहित कौशल विकास विभाग के अधिकारी उपस्थित थे. 
 
विभाग व विवि पेंशन मामले में गंभीर हों : राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू ने कहा है कि विवि के सेवानिवृत्त शिक्षकों को समय पर पेंशन मिले, यह सुनिश्चित करायें. विभाग व विवि इस दिशा में गंभीरता दिखायें. उन्होंने कहा कि उन्हें विभिन्न स्रोतों से भी पता चला है कि कई सेवानिवृत्त शिक्षकों का पेंशन निर्धारण भी अभी अब तक नहीं हुआ है. उनका मामला वर्षों से लंबित है. विभाग ऐसे मामलों का शीघ्र निष्पादन करे. 
पाकिस्तान के जख्म पर अमेरिका का नमक, आर्थिक मदद में 3100 करोड़ की कटौती की गई
राज्यपाल ने कहा कि दुमका सहित राज्य में अन्य स्थानों में चल रहे इंजीनियरिंग कॉलेजों में छात्र हित में सत्र 2018-19 से पूर्व संबद्धता देने संबंधी निर्णय को लेकर विद्यार्थियों को परीक्षा में बैठाने की दिशा में कार्रवाई करें. इस पर विभाग के अधिकारियों ने राज्यपाल से कहा कि मामले को शीघ्र ही कैबिनेट की बैठक में लाकर इसका निराकरण करा लिया जायेगा. 
 
टीआरएल डिपार्टमेंट में प्रोन्नति मामले के निष्पादन का निर्देश
 
राज्यपाल ने जनजातीय व क्षेत्रीय भाषा विभाग के शिक्षकों की प्रोन्नति की दिशा में की जा रही कार्रवाई की समीक्षा करते हुए शीघ्र निष्पादन करने को कहा. उन्होंने केंद्रीय विवि, झारखंड की भूमि संंबंधी समस्या का शीघ्र निबटारा कराते हुए भूमि उपलब्ध कराने की कार्रवाई सुनिश्चित कराने को कहा. बैठक में राज्यपाल ने उरीमारी व पोटका के ग्रामीण इलाके में शीघ्र ही डिग्री कॉलेज स्थापित करने का निर्देश दिया. 
 
उच्च शिक्षा प्रधान सचिव श्री सिंह ने बताया कि बड़कागांव में स्थल चिह्नित कर लिया गया है. उन्होंने बताया कि प्रत्येक विधानसभा में डिग्री कॉलेज उपलब्ध कराने की दिशा में सरकार की योजना है. राज्य में वीमेंस कॉलेज की स्थापना में गति लाने व आ रही समस्याअों को दूर करने का निर्देश दिया. इन कॉलेजों में पद सृजन की कार्रवाई पर गंभीरतापूर्वक ध्यान देने का निर्देश दिया.
 
विनोद बिहारी महतो कोयलांचल विवि में वित्त पदाधिकारी का पद सृजित करने को कहा. राज्य के विभिन्न विवि में कार्यरत अतिथि शिक्षक (गेस्ट फैकल्टी) को न्यूनतम शिक्षण अवधि के निर्धारण के लिए कहा, ताकि उन्हें सम्मानजनक राशि मिल सके. 
 
राज्यपाल ने वोकेशनल सहित सेल्फ फाइनांस कोर्स के शुल्क में एकरूपता लाने का निर्देश दिया, जबकि राज्यपाल ने उच्च शिक्षा विभाग सहित राज्य के सभी विवि को अगले सत्र से चांसलर पोर्टल को क्रियाशील बनाते हुए नामांकन लेने का निर्देश दिया.

MOLITICS SURVEY

क्या संतोष गंगवार के बयान का असर महाराष्ट्र चुनाव में होगा ?

TOTAL RESPONSES : 2

Raise Your Voice
Raise Your Voice 

Suffering From Problem In Your Area ? Now Its Time To Raise Your Voice And Make Everyone Know