‘ब्रांड इक्विटी’ है गांधी-नेहरू परिवार : अधीर रंजन चौधरी
Latest News
bookmarkBOOKMARK

‘ब्रांड इक्विटी’ है गांधी-नेहरू परिवार : अधीर रंजन चौधरी

By Prabhatkhabar calender  17-Aug-2019

‘ब्रांड इक्विटी’ है गांधी-नेहरू परिवार : अधीर रंजन चौधरी

कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी का कहना है कि गांधी-नेहरू परिवार के बाहर के किसी व्यक्ति के लिए पार्टी का नेतृत्व करना मुश्किल होगा, क्योंकि उनकी (परिवार की) एक ‘ब्रांड इक्विटी’ है. चौधरी ने कहा कि कांग्रेस जैसी ‘मजबूत’ विचारधारा वाली पार्टी, जिसकी हर जगह पहुंच हो, वही भाजपा के ‘सांप्रदायिक रथ’ को रोक सकती है.
चौधरी ने कहा, ‘क्षेत्रीय दल जैसे काम कर रहे हैं, वे आने वाले दिनों में अपना महत्व खो देंगे. उनके महत्व खोने का मतलब है कि देश द्विध्रुवीय राजनीति की ओर बढ़ जायेगा.’ उन्होंने कहा, ‘ द्विध्रुवीय राजनीति की स्थिति उत्पन्न होने से हम दोबारा सत्ता में आ सकते हैं. इसलिए कांग्रेस का भविष्य उज्ज्वल है.’
Bengal ache over rural job scheme tweak
चौधरी ने कहा कि क्षेत्रीय दलों में वैचारिक प्रेरणा का अभाव है और कांग्रेस जैसी राष्ट्रीय पार्टी को व्यापक समर्थन है. कांग्रेस नेता ने कहा कि सोनिया गांधी पार्टी की डोर हाथ में नहीं लेना चाहती थीं, लेकिन राहुल गांधी के इस्तीफा देने के बाद संगठन को ‘संकट’ में देख उन्होंने वरिष्ठ कांग्रेस पदाधिकारियों का अनुरोध स्वीकार कर लिया.
चौधरी ने कहा, ‘सोनिया गांधी ने संकट के समय में पार्टी की बागडोर संभाली. उन्हीं के नेतृत्व में मुश्किल समय में वर्ष 2004 और 2009 में दो बार कांग्रेस ने सरकार बनायी थी.’ उन्होंने कहा, ‘गांधी परिवार से बाहर किसी व्यक्ति का पार्टी का नेतृत्व करना वास्तव में मुश्किल होगा. राजनीति में भी ‘ब्रांड इक्विटी’ होती है. अगर आप अभी भाजपा को देखेंगे, तो क्या मोदी और शाह के बिना वह सुचारु रूप से चल सकती है? जवाब है नहीं.’

MOLITICS SURVEY

क्या संतोष गंगवार के बयान का असर महाराष्ट्र चुनाव में होगा ?

हाँ
  50%
नहीं
  50%
पता नहीं
  0%

TOTAL RESPONSES : 2

Raise Your Voice
Raise Your Voice 

Suffering From Problem In Your Area ? Now Its Time To Raise Your Voice And Make Everyone Know