कार्बेट की शान को पीएम ने रामगंगा की लहरों से दी नई पहचान
Latest News
bookmarkBOOKMARK

कार्बेट की शान को पीएम ने रामगंगा की लहरों से दी नई पहचान

By Dainik Jagran calender  13-Aug-2019

कार्बेट की शान को पीएम ने रामगंगा की लहरों से दी नई पहचान

केदारनाथ के बाद अब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उत्तराखंड में स्थित प्रसिद्ध कार्बेट नेशनल पार्क की ब्रांडिंग कर देश-दुनिया का ध्यान वन्यजीव संरक्षण के इस बेहतरीन मॉडल की तरफ खींचा है। उन्होंने डिस्कवरी चैनल के शो मैन वर्सेज वाइल्ड में बेयर ग्रिल्स के साथ सफारी कर न सिर्फ कार्बेट के तमाम पहलुओं पर चर्चा की, बल्कि इस पार्क की जीवनरेखा रामगंगा की लहरों पर सवार हो कार्बेट की शान को नई पहचान भी दी। सोमवार को भारत समेत 180 देशों में टीवी पर प्रसारित हुए इस कार्यक्रम के जरिये मोदी ने प्रकृति और वन्यजीव संरक्षण का संदेश दिया। उन्होंने उत्तराखंड हिमालय में साधना के लिए बिताए गए वक्त का उल्लेख भी किया।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का उत्तराखंड से विशेष लगाव है। एक दौर में मोदी ने उत्तराखंड हिमालय में द्वादश ज्योर्तिलिंगों में से एक केदारनाथधाम के नजदीक गरुड़चट्टी स्थित गुफा में साधना की थी। उनकी बाबा केदार के प्रति अगाध श्रद्धा है। 2013 में आई आपदा में केदारपुरी के तबाह होने के बाद नई केदारपुरी का निर्माण उनके ड्रीम प्रोजेक्ट में शामिल है। लोस चुनाव की आपाधापी से निबटने के बाद उन्होंने केदारनाथ के पास एक गुफा में रात्रि विश्राम कर दुनियाभर में इस धाम की ब्रांडिंग की थी।
अब प्रधानमंत्री ने राज्य में स्थित देश के सबसे पुराने जिम कार्बेट नेशनल पार्क की ब्रांडिंग कर पूरी दुनिया का ध्यान इस ओर आकृष्ट किया है। यह पार्क दुनियाभर में बाघ समेत दूसरे वन्यजीवों के संरक्षण के लिए एक आदर्श मॉडल है। 250 से ज्यादा बाघों वाले इस पार्क में प्रधानमंत्री ने इसी साल 14 फरवरी को डिस्कवरी चैनल के चर्चित कार्यक्रम मैन वर्सेज वाइल्ड में बेयर ग्रिल्स के साथ कार्बेट की सफारी। साथ ही रामगंगा की लहरों पर सवारी की।
प्रधानमंत्री मोदी ने कार्बेट के इस सफर के दौरान शिकारी से बाघ संरक्षणवादी बने जिम कार्बेट का उल्लेख किया तो पार्क से जुड़े तमाम पहलुओं को लेकर चर्चा की। उन्होंने कहा कि यह भारत का बड़ा नेशनल पार्क है और वन्यजीव संरक्षण के लिए यहां शानदार प्रयास हुए हैं। उन्होंने कार्बेट की खूबसूरती को भी उकेरा और कहा कि यहां पहाड़, नदियां, तालाब, जंगल, वन्यजीव सबकुछ है। प्रकृति और वन्यजीव प्रेमियों के लिए यह बेहद खास स्थल है।

MOLITICS SURVEY

क्या आरक्षण पर मोहन भागवत के बयान से चुनावों में बीजेपी को नुकसान होगा?

TOTAL RESPONSES : 29

Raise Your Voice
Raise Your Voice 

Suffering From Problem In Your Area ? Now Its Time To Raise Your Voice And Make Everyone Know