Article 370 ही नहीं, इन बड़े मुद्दों पर भी एकमत नहीं BJP-JDU, बड़ा सवाल- आखिर क्या चाहते CM नीतीश?
Latest News
bookmarkBOOKMARK

Article 370 ही नहीं, इन बड़े मुद्दों पर भी एकमत नहीं BJP-JDU, बड़ा सवाल- आखिर क्या चाहते CM नीतीश?

By Jagran calender  07-Aug-2019

Article 370 ही नहीं, इन बड़े मुद्दों पर भी एकमत नहीं BJP-JDU, बड़ा सवाल- आखिर क्या चाहते CM नीतीश?

जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 (Article 370) के हटाए जाने के फैसले का राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (NDA) में भारतीय जनता पार्टी (BJP) के सहयोगी जनता दल यूनाइटेड (JDU) ने विरोध किया है। पार्टी ने इस मुद्दे पर मंगलवार को लोकसभा में भी अपना रुख स्पष्ट किया। यह पहला मौका नहीं, जब एनडीए में रहते हुए जेडीयू केंद्र सरकार के खिलाफ गया है। दरअसल, बीजेपी के साथ रहकर भी उसके प्रमुख मुद्दों का जेडीयू विरोध कर रहा है। ऐसे में सवाल यह है कि आखिर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) चाहते क्या हैं? 
विदित हो कि केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार (Narendra Modi Government) ने जम्मू कश्मीर में लागू संविधान के अनुच्छेेद 370 के प्रावधानों में बदलाव का फैसला किया है। राष्ट्रपति ने इस प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है। सरकार ने अनुच्छेद 35ए (35A) को भी हटा दिया है। साथ ही जम्मू-कश्मीर को दिल्ली की तर्ज पर एक केंद्र शासित प्रदेश बनाते हुए लद्दाख को उससे अलग कर दिया गया है। जेडीयू इसके विरोध में है। विरोध के और भी कई मुद्दे हैं।

लोकसभा में बोले ललन सिंह: माहौल बना करनी थी कार्रवाई 
जम्मू-कश्‍मीर पुनर्गठन बिल पर बहस के दौरान लोकसभा  में जेडीयू सांसद ललन सिंह (Lalan Singh) ने कहा कि इस संवेदनशील मसले पर माहौल बनाकर कार्रवाई होती तो कोई और बात होती। हमें आतंकवाद (Terrorism) से लड़ना था, विवादित विषयों को नहीं छूना था। ललन सिंह ने कहा कि उनकी पार्टी का इस विषय में स्पष्ट रूख है। जेडीयू अनुच्छेद 370 को हटाने के खिलाफ है और इसके पास होने में भागीदार नहीं हो सकता, इसलिए पार्टी सदन का बहिष्कार करती है।
इसके पहले सोमवार को जेडीयू के राष्ट्रीय महासचिव केसी त्यागी (KC Tyagi) ने कहा कि उनकी पार्टी जम्मू कश्मीर व अनुच्छेद 370 को लेकर बीजेपी से अलग राय रखती है। उन्होंने कहा कि उनकी पार्टी अपने पुराने स्टैंड पर कायम है। जेडीयू जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने के खिलाफ है।
केसी त्यागी ने कहा कि डॉ. राम मनोहर लोहिया (Ram Manohar Lohia) अनुच्छेद 370 के समर्थक थे। एनडीए के गठन के समय जॉर्ज फर्नांडिस (George Fernandes) ने भी अनुच्छेद 370 कायम रखने का प्रस्ताव रखा था। हम लाेहिया व जॉर्ज की परंपरा के वाहक हैं। अटल बिहारी वाजपेयी (Atal Bihari Vajpayee) की सरकार के समय जॉर्ज फर्नांडीस ने एनडीए में अनुच्छेद 370 जारी रखने की बात कही थी। उस समय एनडीए-1 में जिन तीन विवादित मुद्दों को बाहर किया गया था, उनमें अनुच्छेद 370 भी शामिल था।

MOLITICS SURVEY

अयोध्या में विवादित जगह पर क्या बनना चाहिए ??

TOTAL RESPONSES : 8

Raise Your Voice
Raise Your Voice 

Suffering From Problem In Your Area ? Now Its Time To Raise Your Voice And Make Everyone Know