उपराष्‍ट्रपति वेंकैया नायडू पहुंचे पटना, पीयू में बोले- मां, पिता व जन्‍मभूमि को नहीं भूलें
Latest News
bookmarkBOOKMARK

उपराष्‍ट्रपति वेंकैया नायडू पहुंचे पटना, पीयू में बोले- मां, पिता व जन्‍मभूमि को नहीं भूलें

By Jagran calender  04-Aug-2019

उपराष्‍ट्रपति वेंकैया नायडू पहुंचे पटना, पीयू में बोले- मां, पिता व जन्‍मभूमि को नहीं भूलें

देश के उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू रविवार को बिहार दौरे पर पटना पहुंचे। वे पटना विश्वविद्यालय पुस्तकालय व पटना हाईस्कूल के शताब्दी समारोह तथा कैंसर हॉस्पिटल सवेरा के कार्यक्रम में शामिल होने के लिए पटना में छह घंटे तक रहेंगे। वे विशेष विमान से सुबह सवा 11 बजे के करीब पटना एयरपोर्ट पर पहुंचे। वहां राज्‍यपाल फागू चौहान, सीएम नीतीश कुमार व डिप्‍टी सीएम सुशील कुमार मोदी ने गुलदस्‍ता देकर स्‍वागत किया। वहीं, उपराष्‍ट्रपति के कार्यक्रम को लेकर सुरक्षा व्‍यवस्‍था कड़ी कर दी गई है। चप्‍पे-चप्‍पे पर पुलिस की व्‍यवस्‍था की गई है। कई रूटों की ट्रैफिक को भी डायवर्ट किया गया है। 
पीयू को केंद्रीय विश्‍वविद्यालय का दर्जा देने की मांग
उपराष्‍ट्रपति वेंकैया नायडू पटना एयरपोर्ट से सीधे पटना विश्‍वविद्यालय पुस्‍तकालय शताब्‍दी समारोह कार्यक्रम में पहुंचे। कार्यक्रम में उपराष्‍ट्रपति के अलावा राज्‍यपाल फागू चौहान, सीएम नीतीश कुमार, डिप्‍टी सीएम सुशील कुमार मोदी समेत अनेक मंत्री मौजूद हैं। वहीं, सीएम नीतीश कुमार के भाषण के दौरान वहां मौजूद लड़कों ने पटना विश्‍वविद्यालय को केंद्रीय विश्‍वविद्यालय का दर्जा दिलाने की मांग की। मौके पर कई किताबों का विमोचन किया गया। 
बोले उपराष्‍ट्रपति वेंकैया नायडू- मातृभाषा आपकी पहचान है 
उपराष्‍ट्रपति वेंकैया नायडू ने कहा कि स्टूडेंट्स को तीन बातें कभी नहीं भूलनी चाहिए। मां, पिता व जन्‍मभूमि को हमेशा याद रखें। इन चीजों को ताउम्र नहीं भूलें। उन्‍होंने कहा कि आपकी मातृभाषा आपकी पहचान है। अंग्रेजी सीखने से पहले आप आप अपनी मातृभाषा को सीखें। उन्‍होंने पीयू को केंद्रीय विवि का दर्जा देने के मामले पर कहा कि मैंने राज्यपाल और सीएम नीतीश कुमार से बात की है। पीयू से जुड़े दस्‍तावेज लेकर मेरे पास आएं, जो भी मैं पर्सनली कर सकता हूं, वह करूंगा। उनहोंने जोर देकर कहा कि पीयू को केंद्रीय विश्‍वविद्यालय का दर्जा दिलवाने की कोशिश करूंगा। 
उन्‍होंने यह भी कहा कि पॉलिटक्‍स से मैं अलग हो चुका हूं, लेकिन पॉलिसी के लिए फोर सी (4 C) बहुत जरूरी है। उन्‍होंने इसे परिभाषित करते हुए कहा कि फोर सी में कैरेक्‍टर, कैलिबर, कैपेसिटी और कंडक्‍टर बहुत जरूरी है। लेकिन, ये चारों चीजें आज पॉलिटिक्‍स से गायब हो गयी हैं। इन्हें नजरअंदाज किया जा रहा है।

MOLITICS SURVEY

क्या आरक्षण पर मोहन भागवत के बयान से चुनावों में बीजेपी को नुकसान होगा?

TOTAL RESPONSES : 36

Raise Your Voice
Raise Your Voice 

Suffering From Problem In Your Area ? Now Its Time To Raise Your Voice And Make Everyone Know