कांग्रेस बोली- कश्मीर पर सरकार की एडवाइजरी से खौफ, चुनाव में भुनाना है मकसद
Latest News
bookmarkBOOKMARK

कांग्रेस बोली- कश्मीर पर सरकार की एडवाइजरी से खौफ, चुनाव में भुनाना है मकसद

By Aaj Tak calender  03-Aug-2019

कांग्रेस बोली- कश्मीर पर सरकार की एडवाइजरी से खौफ, चुनाव में भुनाना है मकसद

कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद ने जम्मू कश्मीर के मौजूदा हालात पर कहा है कि कश्मीर में जो हो रहा है, वह हम सभी के लिए बेहद चिंताजनक है. इस वक्त घाटी में अतिरिक्त सुरक्षाबल तैनात करना चिंताजनक है. आजाद ने शनिवार को मीडिया से कहा, कश्मीर और लद्दाख के लोग गृह मंत्रालय की एडवाइजरी के बाद काफी डरे हुए हैं. ऐसा तो तब भी नहीं हुआ, जब घाटी में आतंक चरम पर था.'
जम्मू कश्मीर में अचानक अमरनाथ यात्रा के रोके जाने और जवानों की तैनाती बढ़ाए जाने को लेकर सूबे में सियासी हलचल तेज हो गई है. केंद्र के एक्शन पर कांग्रेस के अलावा पीडीपी और नेशनल कॉन्फ्रेंस हैरान हैं. इसी को लेकर शुक्रवार को महबूबा मुफ्ती राज्यपाल से मिलीं तो शनिवार को उमर अब्दुल्ला ने सत्यपाल मलिक से मुलाकात कर आशंकाओं को दूर करने की कोशिश की.
कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा, 'अतीत में, यहां तक कि एमएमएस, अटल बिहारी वाजपेयी, नरसिम्हा राव के शासन में ऐसा कभी नहीं हुआ कि तीर्थयात्रियों को वापस घर लौटने के लिए कहा गया. पूर्व में ऐसी स्थिति कभी नहीं पनपी. यह अभूतपूर्व है.'
गुलाम नबी आजाद ने कहा कि बीजेपी घाटी में नफरत फैलाना चाहती है. पर्यटकों का हर कश्मीरी खुले दिल से स्वागत करता है लेकिन सरकार लोगों में खौफ पैदा करना चाहती है और घाटी के स्थानीय लोगों में नफरत फैला रही है.' आजाद ने कहा, जहां तक स्नाइपर और हथियार बरामद होने की बात है तो जब मैं वहां का मुख्यमंत्री था, तब भी वहां ऐसा होता था लेकिन हमने अमरनाथ यात्रा कभी नहीं रोकी.

MOLITICS SURVEY

क्या आरक्षण पर मोहन भागवत के बयान से चुनावों में बीजेपी को नुकसान होगा?

TOTAL RESPONSES : 17

Raise Your Voice
Raise Your Voice 

Suffering From Problem In Your Area ? Now Its Time To Raise Your Voice And Make Everyone Know