कैप्टन घिरे तो बोले- जल्दी मत करो, पिछली बार बादलों को पकड़ा था, तो सहानुभूति पैदा हो गई थी