गुजरात: टेक्स्ट बुक में बदला गया अंबेडकर का स्लोगन, संगठन ने जताई नाराजगी
Latest News
bookmarkBOOKMARK

गुजरात: टेक्स्ट बुक में बदला गया अंबेडकर का स्लोगन, संगठन ने जताई नाराजगी

By Tv9bharatvarsh calender  03-Aug-2019

गुजरात: टेक्स्ट बुक में बदला गया अंबेडकर का स्लोगन, संगठन ने जताई नाराजगी

गुजरात के एक अंबेडकरवादी संगठन ने पांचवी क्लास के गुजराती टेक्स्ट बुक में संविधान निर्माता भीमराव अंबेडकर के स्लोगोन में कथित ‘फेरबदल’ को लेकर मुख्यमंत्री कार्यालय को चिट्ठी लिखकर अपना विरोध प्रकट किया है. अंबेडकरवादी संगठन की मांग है कि किताब में स्लोगन अपने वास्तविक रूप में डाले जाएं.
गुजरात के शिक्षा मंत्री भूपेंद्र सिंह चुडासमा ने इसी मुद्दे को लेकर अगले हफ़्ते शिक्षा विभाग और टेक्स्ट बुक बोर्ड की विशेष बैठक बुलाई है. उनका कहना है कि अगर ऐसी कोई ग़लती हुई है तो इसे ठीक किया जाएगा.
अंबेडकरवादी संगठन ने अपने शिकयत की कॉपी उपमुख्यमंत्री नितिन पटेल, सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री ईश्वर परमार और शिक्षा मंत्री भूपेंद्र सिंह चुडासमा को भेजी थी.
भीम राव अंबेडकर का एक स्लोगन जिसका संदर्भ है- पढ़ो, संगठित बनो और संघर्ष करो गुजरात में दलित आंदोलन का पर्याय बन गया है. गुजराती में यह काफी प्रचलित है.

MOLITICS SURVEY

क्या आरक्षण पर मोहन भागवत के बयान से चुनावों में बीजेपी को नुकसान होगा?

TOTAL RESPONSES : 28

Raise Your Voice
Raise Your Voice 

Suffering From Problem In Your Area ? Now Its Time To Raise Your Voice And Make Everyone Know