साक्षी के विधायक पिता ने बयां किया दर्द, कहा- बाहर नहीं जाना चाहता
Latest News
bookmarkBOOKMARK

साक्षी के विधायक पिता ने बयां किया दर्द, कहा- बाहर नहीं जाना चाहता

By Aaj Tak calender  22-Aug-2019

साक्षी के विधायक पिता ने बयां किया दर्द, कहा- बाहर नहीं जाना चाहता

अपनी बेटी साक्षी मिश्रा के घर छोड़कर जाने और अजितेश से शादी कर लेने के बाद कई दिन तक इस मुद्दे पर चुप रहने वाले उत्तर प्रदेश के बरेली जिले के भारतीय जनता पार्टी के विधायक राजेश मिश्रा ऊर्फ पप्पू भरतौल ने राजनीतिक विरोधियों पर साजिश का आरोप लगाया है. गुरुवार को समाचार एजेंसी IANS से बात करते हुए भरतौल ने कहा कि इस घटना की आड़ में नेताओं, अधिकारियों की एक लॉबी ने मेरी छवि खराब करने की कोशिश की. ऐसा मेरा राजनीतिक करियर खत्म करने की सोच के साथ किया गया.
उन्होंने कहा कि विरोधियों ने आग में घी डालने का काम किया. अजितेश को मेरे परिवार के खिलाफ बोलने के लिए उकसाया, छवि खराब करने की कोशिश की गई. इससे मेरी भावनाएं आहत हुई हैं. मिश्रा ने कहा कि विधायक के नाते मुझे विधानसभा के चालू सत्र में सहभागिता करनी चाहिए थी, लेकिन मैं कहीं बाहर नहीं जाना चाहता.
उन्होंने कहा कि इस घटना और अपनी बेटी की भूमिका पर टिप्पणी नहीं करना चाहता. पूरा परिवार अवसाद में है. इस घटना को याद करना दुःखद है. मैं जानता हूं कि गौरव अरमान के अलावा दो अन्य वरिष्ठ नेता अजितेश के परिवार की सहायता कर रहे हैं.
बेटी साक्षी द्वारा इस्तेमाल किए गए वीडियो पर भाजपा नेता ने कहा कि तीन जुलाई की शाम चार बजे दो युवक मेरे घर पहुंचे, जो गौरव के संपर्क में थे. मैं तब लखनऊ से लौट रहा था, जबकि मेरा बेटा विक्की दिल्ली के एम्स अस्पताल गया था. उन्होंने कहा कि जब साक्षी गई थी, तब मेरी छोटी बेटी सो रही थी. अगले दिन गौरव ने साक्षी और अजितेश का एक वीडियो रिकॉर्ड करने का दबाव बनाया और सोशल मीडिया पर जारी करने को कहा.
विधायक ने कहा कि गौरव अरमान कभी मेरा व्यावसायिक सहयोगी था. धोखा मिलने पर उससे दूरी बना ली थी. इसके बाद उसने मेरे विरोधियों से हाथ मिला लिया था. गौरव आपराधिक पृष्ठभूमि का व्यक्ति है. उन्होंने कहा, 'मैं उस ऑडियो रिकॉर्डिंग की पुलिस जांच के नतीजों का इंतजार कर रहा हूं, जिसमें पता चल रहा है कि गौरव मेरी हत्या की योजना बना रहा था. यह रिकॉर्डिंग गौरव के एक पुराने साथी ने पुलिस को दी है.'
विधायक मिश्रा ने कहा कि एक नौकरशाह की पत्नी के साथ मिलकर गौरव ने मेरी बेटी पर एक वीडियो रिकॉर्ड करने का दबाव बनाया. नौकरशाह की पत्नी ने मेरी बेटी को परिवार के खिलाफ बोलने के लिए उकसाया. उन्होंने कहा कि यह वीडियो इलाहाबाद के करीब रिकॉर्ड किया गया. मेरा सवाल है कि जब मैंने साक्षी को एक शब्द नहीं बोला तो वीडियो क्यों रिकॉर्ड किया गया और बड़े मीडिया घरानों को क्यों वितरित किया गया. विधायक ने कहा कि नौकरशाह की पत्नी की राजनीतिक महत्वाकांक्षा थी और इसलिए उसने अपना बदला निकाला.

MOLITICS SURVEY

क्या आरक्षण पर मोहन भागवत के बयान से चुनावों में बीजेपी को नुकसान होगा?

TOTAL RESPONSES : 28

Raise Your Voice
Raise Your Voice 

Suffering From Problem In Your Area ? Now Its Time To Raise Your Voice And Make Everyone Know