झिलमिल फैक्ट्री अग्निकांड पर सियासत, भाजपा ने केजरीवाल सरकार को घेरा
Latest News
bookmarkBOOKMARK

झिलमिल फैक्ट्री अग्निकांड पर सियासत, भाजपा ने केजरीवाल सरकार को घेरा

By Aaj Tak calender  14-Jul-2019

झिलमिल फैक्ट्री अग्निकांड पर सियासत, भाजपा ने केजरीवाल सरकार को घेरा

पूर्वी दिल्ली के झिलमिल क्षेत्र में एक फैक्ट्री में लगी आग अब सियासी रूप लेने लगी है. पूर्वी दिल्ली नगर निगम ने इस मामले की विस्तृत जांच कराने का ऐलान किया है. वहीं भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने केजरीवाल सरकार पर हमला बोला है.
दिल्ली भाजपा के अध्यक्ष मनोज तिवारी की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि पार्टी पीड़ितों के साथ है. उन्होंने कहा है कि इस पूरे मामले में दिल्ली सरकार की लापरवाही सामने आ रही है. तिवारी ने कहा कि दिल्ली में आग लगने की घटनाओं की तादाद लगातार बढ़ती जा रही है, लेकिन दिल्ली सरकार इसे लेकर बिल्कुल भी गंभीर नहीं है. केजरीवाल सरकार की नींद घटना घट जाने के बाद ही खुलती है. मनोज तिवारी ने कहा कि फायर सेफ्टी डिपार्टमेंट आग की घटना घटने के बाद ही हरकत में आता है.
दिल्ली बीजेपी अध्यक्ष ने कहा कि दिल्ली फायर डिपार्टमेंट की ओर से कोई भी जागरुकता कार्यक्रम नहीं कराया जाता और न ही औद्योगिक क्षेत्रों में सुरक्षा मानकों की जांच ही की जाती है. इसका नतीजा है कि दिल्ली में बार-बार आग लगने की घटनाएं घट रही हैं. लोगों को जान-माल का नुकसान उठाना पड़ रहा है. भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि हाल ही में करोल बाग स्थित एक होटल में आग लगने की बड़ी घटना हुई थी, जिसमें बड़े पैमाने पर नुकसान हुआ था.

पिछले महीने ही आनंद विहार के पास स्थित अनाधिकृत फर्नीचर मार्केट जलकर खाक हो गया और अब यह घटना हुई है. उन्होंने कहा कि यह दिल्ली सरकार की घोर लापरवाही का नतीजा है. मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को संवदेनशील होकर दिल्ली की जनता का राजनीति से ऊपर उठकर ध्यान रखना चाहिए.
समाप्त हो चुकी थी फैक्ट्री के लाईसेंस की अवधि
आग लगने की घटना को लेकर पूर्वी दिल्ली नगर निगम के फैक्टरी लाइसेंस विभाग के उपायुक्त रनेन कुमार ने कहा है कि जिस फैक्ट्री में यह दुर्घटना हुई, उसके लाइसेंस की अवधि समाप्त हो चुकी थी. फैक्ट्री ने इसका नवीनीकरण नहीं कराया था. उन्होंने कहा कि यह फैक्ट्री 110 वर्ग मीटर क्षेत्रफल में चल रही थी. 250 वर्ग मीटर से अधिक क्षेत्रफल वाली फैक्ट्री के लिए फायर एनओसी जरूरी होती है.

MOLITICS SURVEY

ट्रैफिक रूल्स में हुए नए बदलाव जनता के लिए !

फायदेमंद
  33.33%
नुकसानदायक
  66.67%

TOTAL RESPONSES : 24

Raise Your Voice
Raise Your Voice 

Suffering From Problem In Your Area ? Now Its Time To Raise Your Voice And Make Everyone Know