हरियाणा के चुनावी रण में अलग अंदाज में उतरेगी आम आदमी पार्टी, जानें क्‍या है नई रणनीति
Latest News
bookmarkBOOKMARK

हरियाणा के चुनावी रण में अलग अंदाज में उतरेगी आम आदमी पार्टी, जानें क्‍या है नई रणनीति

By Jagran calender  12-Jul-2019

हरियाणा के चुनावी रण में अलग अंदाज में उतरेगी आम आदमी पार्टी, जानें क्‍या है नई रणनीति

हरियाणा में किसी तरह के राजनीतिक गठजोड़ से बेपरवाह आम आदमी पार्टी ने विधानसभा चुनाव की तैयारी शुरू कर दी है। इस चुनाव में वह अलग अंदाज में नजर आएगी। पार्टी ने इसके लिए नई रणनीति बनाई है। मूल रूप से हरियाणा के रहने वाले पार्टी सुप्रीमो व दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल का पूरा फोकस हरियाणा पर है। उन्होंने चुनाव आचार संहिता से पहले संगठन को मजबूत करने और एक दर्जन नए प्रकोष्ठ बनाने के निर्देश हरियाणा इकाई को दिए हैं। कांग्रेस की गुटबाजी के कारण आप को लगता कि उनकी पार्टी हरियाणा में भाजपा का मजबूत विकल्प बन सकती है।
आम आदमी पार्टी ने निर्णय लिया है कि हरियाणा में विधानसभा चुनाव मौजूदा प्रदेश अध्यक्ष नवीन जयहिंद के नेतृत्व में ही लड़ा जाएगा। संगठन के कार्यों को गति प्रदान करने और टिकटों के लिए उपयुक्त उम्मीदवारों के चयन के लिए राज्यसभा सदस्य डा. सुशील गुप्ता को हरियाणा भेजा गया है। उन्हें मौजूदा प्रदेश प्रभारी गोपाल राय के साथ सह प्रभारी पद की जिम्मेदारी सौंपी गई है। टिकटों के लिए उपयुक्त उम्मीदवारों के चयन का काम पंडित नवीन जयहिंद और सुशील गुप्ता करेंगे। चयन प्रक्रिया पूरी होने के बाद प्रभारी के जरिये पूरी रिपोर्ट अरविंद केजरीवाल को भेजी जाएगी।
आम आदमी पार्टी ने हरियाणा में तीन कार्यकारी अध्यक्ष भी बनाने का निर्णय लिया है। तीनों कार्यकारी प्रधानों को तीन-तीन लोकसभा सीटों का वितरण किया गया है, ताकि वह अपने अधिकार क्षेत्र और दायरे से बाहर जाकर काम न कर सकें। तीनों कार्यकारी अध्यक्ष मौजूदा प्रदेश अध्यक्ष नवीन जयहिंद को रिपोर्ट करेंगे। एक कार्यकारी प्रधान को करनाल, कुरुक्षेत्र और अंबाला, दूसरे कार्यकारी प्रधान को हिसार, सोनीपत, रोहतक व सिरसा और तीसरे कार्यकारी अध्यक्ष को फरीदाबाद, गुरुग्राम व भिवानी-महेंद्रगढ़ लोकसभा सीटों की जिम्मेदारी सौंपी जाएगी।
राज्यसभा सदस्य डा. सुशील गुप्ता के अनुसार तीनों कार्यकारी अध्यक्ष अपने-अपने लोकसभा क्षेत्रों में संगठन का निर्माण करने तथा उसकी मजबूती के लिए काम करेंगे। चुनाव से पहले आम आदमी पार्टी के सहयोगी प्रकोष्ठों व्यापारी संगठन, किसान सेल, एसी-एसटी विंग, छात्र विंग, मजदूर संगठन, महिला विंग, यूथ विंग, पिछड़ा अल्पसंख्यक विंग तथा शिक्षक विंग का निर्माण किया जाएगा। फिलहाल संगठन में जो पदाधिकारी काम कर रहे हैं, वे अपने पदों पर यथावत बने रहेंगे।
आप की हरियाणा इकाई के प्रधान पंडित नवीन जयहिंद ने बताया कि पार्टी की मजबूती के लिए तमाम प्रकल्प चलाए जाएंगे। यदि कोई कार्यकर्ता किसी कारण से नाराज है तो उसे मनाकर फील्ड में लाया जाएगा। इस दौरान राज्य में नई सदस्यता के लिए अभियान चलेगा। यदि किसी कार्यकर्ता का कोई विवाद अथवा असंतोष है तो उसे दूर करने के लिए शीघ्र ही विधानसभा, जिला, लोकसभा और राच्य स्तर पर समितियां गठित होंगी। समिति के गठन से पहले यदि कोई शिकायत अथवा सुझाव है तो उसे सीधे प्रदेश अध्यक्ष और सह प्रभारी देखेंगे।

MOLITICS SURVEY

मॉब लिंचिंग किस वजह से हो रही है ?

दाढ़ी
  5.66%
टोपी
  9.43%
राष्ट्रवाद
  84.91%

TOTAL RESPONSES : 53

Raise Your Voice
Raise Your Voice 

Suffering From Problem In Your Area ? Now Its Time To Raise Your Voice And Make Everyone Know