राजस्थान बजट 2019 - जलदाय विभाग की महत्वपूर्ण घोषणाएं
Latest News
bookmarkBOOKMARK

राजस्थान बजट 2019 - जलदाय विभाग की महत्वपूर्ण घोषणाएं

By Khaskhabar calender  11-Jul-2019

राजस्थान बजट 2019 - जलदाय विभाग की महत्वपूर्ण घोषणाएं

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने अपने बजट भाषण में जलदाय विभाग के लिए कई महत्वपूर्ण घोषणा की है। बजट में वित्तीय वर्ष 2019-20 में जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग के लिए कुल रू. 8 हजार 445 करोड का प्रावधान किया गया है। राज्य के फ्लोराईड प्रभावित 1 हजार 250 नए गाॅंव/ढाॅणियों में चरणबद्ध रूप से सौर उर्जा चलित डिफ्लोरीडेशन यूनिट लगाकर समस्या का निराकरण किया जाएगा। राज्य में पेयजल की सुविधा प्रदान करने के लिए आवश्यकतानुसार चरणबद्ध तरीके से सौर उर्जा चलित टैंक सहित ट्यूबवैल स्वीकृत किए जाएगें जिन पर रू. 200 करोड का व्यय होगा।
मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य में 4 हजार या अधिक जनसंख्या वाले 390 वंचित गाॅंवों को पीने के पानी के लिए पाईपलाईन से जोडा जाएगा। इस वर्ष डी.पी.आर. तैयार कर 25 योजनाओं में कार्य करवाया जाएगा। योजना की कुल लागत रू. 950 करोड होगी। वर्ष 2013-14 के बजट में बाडमेर जिले की चौहटन तहसील में 322 गाॅंव गुडामलानी तथा शिव तहसीलों के 345 गांवों को नर्मदा नहर से लाभान्वित करने के लिए रू. 490 करोड की लागत से परियोजना की घोषणा की थी जिसमें से शिव एवं रामसर तहसील के 205 गाॅंवों की पेयजल योजना पर ही काम शुरू हो पाया, शेष योजनाओं को पूर्ववर्ती सरकार ने निरस्त कर दिया। मुख्यमंत्री ने बताया कि अब इस कार्य को दोबारा आगामी वर्षो में रू. 2 हजार 918 करोड की लागत से 5 परियोजनाएं प्रारम्भ की जाएगी । जिससे दो शहर- उदयपुरवाटी एवं सूरजगढ (झुंझुनू) के 921 गाॅंव एवं 573 ढाॅणिया लाभान्वित होगी।
वहीं बजट में जोधपुर बाडमेर तथा पाली जिलों को राजीव गाॅंधी लिफ्ट कैनाल के तृतीय चरण से 5 कस्बों एवं 3 जिलों के 2 हजार 104 गाॅंवों की 75 लाख आबादी के लिए पेयजल की माॅंग की पूर्ति के लिए नवीन परियोजना की घोषणा की गई। ए.डी.बी. से वित्त पोषित इस परियोजना की कुल लागत रू. 1 हजार 454 करोड होगी।
अलवर, भरतपुर, धोलपुर तथा सवाई मोधोपुर जिलों में पेयजल आपूर्ति हेतु आगामी वर्षो में निम्न परियोजनाएं प्राथमिकता से पूरी की जाएगीः-
1. चम्बल-अलवर पेयजल परियोजना से अलवर, भरतपुर तथा धौलपुर जिलों के 14 कस्बों एवं 3 हजार 72 गाॅंवों में चम्बल नदी से रू. 4 हजार 718 करोड की लागत से पेयजल आपूर्ति परियोजना।
2. दौसा तथा सवाईमाधोपुर जिलों के 5 कस्बों एवं 124 गाॅंवों को इसरदा बाॅध द्वार रू. 3 हजार 159 करोड की लागत से पेयजल आपूर्ति परियोजना।

ईर्स्टन राजस्थान कैनाल प्रोजेक्ट एक बहुत ही महत्वाकांक्षी परियोजना है, जिसकी लागत रू. 37 हजार करोड से अधिक है। राज्य सरकार द्वारा राज्य में पानी की कमी एवं भौगोलिक स्थिति को मद्देनजर रखते हुए केन्द्र सरकार से इस परियोजना को नेशनल प्रोजेक्ट का दर्जा देकर इसके क्रिन्यान्वयन में अपेक्षित भूमिका निभाने की पुरजोर अपील की गई है।

MOLITICS SURVEY

ट्रैफिक रूल्स में हुए नए बदलाव जनता के लिए !

फायदेमंद
  33.33%
नुकसानदायक
  66.67%

TOTAL RESPONSES : 24

Raise Your Voice
Raise Your Voice 

Suffering From Problem In Your Area ? Now Its Time To Raise Your Voice And Make Everyone Know