CBI छापे पर सख्त हुए CM योगी आदित्यनाथ, आईएएस अफसरों पर गिर सकती है गाज
Latest News
bookmarkBOOKMARK

CBI छापे पर सख्त हुए CM योगी आदित्यनाथ, आईएएस अफसरों पर गिर सकती है गाज

By News18 calender  10-Jul-2019

CBI छापे पर सख्त हुए CM योगी आदित्यनाथ, आईएएस अफसरों पर गिर सकती है गाज

सपा शासन काल में अवैध खनन के जरिए काली कमाई से अकूत संपत्ति जुटाने वाले आईएएस अफसरों पर सीबीआई की ताबड़तोड़ कार्रवाई चल रही है. सीबीआई की 12 जिलों में हो रही छापेमारी के बाद सरकार की निगाहें भी अब इन आईएएस अफसरों पर सख्त होती दिख रही है. कहा जा रहा है कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सीबीआई छापे में करोड़ों की संपत्ति के खुलासे से नाराज हैं और आईएएस अधिकारी अभय सिंह, विवेक और देवी शरण उपाध्याय पर बुधवार शाम तक गाज गिर सकती है. उधर सीबीआई की कार्रवाई से यूपी के आईएएस अफसरों में हड़कंप मचा हुआ है.

दरअसल, यूपी में सपा शासन काल में जारी किए गए अवैध खनन पट्टों से जुड़े दो मामलों में सीबीआई की टीम ने बुधवार को 12 जगहों पर छापेमारी की. इनमे सबसे अहम छापा यूपी के चर्चित आईएएस और बुलंदशहर के डीएम अभय सिंह के सरकारी आवास पर मारा गया, जहां सीबीआई को नोट गिनने की मशीन मंगानी पड़ी. सीबीआई को अभय सिंह के घर से करीब 47 लाख कैश और करोड़ों की संपत्ति के दस्तवेज मिलने की बात कही जा रही है.

दूसरा मामला भी खनन से ही जुड़ा है, जिसके तहत देवरिया के डीएम रहे आईएएस विवेक (वर्तमान में कौशल विकास निगम के एमडी) के लखनऊ स्थित आवास पर छापा मारा गया है. कहा जा रहा है कि सीबीआई ने संपत्तियों के दस्तावेज जब्त किये हैं. उधर इसी मामले से जुड़े एक अन्य अधिकारी के यहां भी छापे की कार्रवाई चल रही है. तत्कालीन देवरिया के एडीएम देवी शरण उपाध्याय (वर्तमान में आजमगढ़ के सीडीओ) के घर से 10 लाख कैश बरामद हुआ है.

आईएएस अधिकारी अभय सिंह और विवेक पर FIR दर्ज

सीबीआई ने खनन मामले में गड़बड़ी के आरोप में बुलंदशहर के डीएम अभय सिंह और आईएएस विवेक कुमार के खिलाफ एफआईआर दर्ज की है. अभय सिंह पर फतेहपुर का डीएम रहते खनन पट्टों में गड़बड़ी का आरोप है. जबकि विवेक पर देवरिया के डीएम पद पर तैनाती के दौरान अवैध खनन में लिप्त होने का आरोप है.

12 ठिकानों पर चल रही छापेमारी

सीबीआई की टीम लखनऊ, बुलंदशहर, देवरिया, आजमगढ़, इलाहाबाद, फतेहपुर, नोएडा और गोरखपुर समेत 12 ठिकानों पर छापेमारी कर रही हैं. खनन मामले से जुड़े दो केस को लेकर यह छापेमारी चल रही है. पहला मामला फतेहपुर के डीएम रह चुके अभय सिंह से जुड़ा है. दूसरा मामला देवरिया के डीएम रहे आईएएस अधिकारी विवेक से जुड़ा है.

MOLITICS SURVEY

मॉब लिंचिंग किस वजह से हो रही है ?

दाढ़ी
  5.66%
टोपी
  9.43%
राष्ट्रवाद
  84.91%

TOTAL RESPONSES : 53

Raise Your Voice
Raise Your Voice 

Suffering From Problem In Your Area ? Now Its Time To Raise Your Voice And Make Everyone Know