अपनी सैलरी से ईस्ट दिल्ली के श्मशान घाटों की हालत सुधारेंगे सांसद गौतम गंभीर
Latest News
bookmarkBOOKMARK

अपनी सैलरी से ईस्ट दिल्ली के श्मशान घाटों की हालत सुधारेंगे सांसद गौतम गंभीर

By Navbharattimes calender  10-Jul-2019

अपनी सैलरी से ईस्ट दिल्ली के श्मशान घाटों की हालत सुधारेंगे सांसद गौतम गंभीर

सांसद बनने के बाद पूर्व क्रिकेटर गौतम गंभीर काम करने के लिए मैदान में उतर चुके हैं। गौतम ने सांसद के रूप में उन्हें मिलने वाली सैलरी से हर महीने ईस्ट दिल्ली के सभी प्रमुख श्मशान घाटों का पुनरुद्धार करने और वहां आने वाले लोगों को बेहतर सुविधाएं मुहैया कराने की घोषणा की है। इसकी शुरुआत उन्होंने ईस्ट दिल्ली के सबसे पुराने और प्रमुख श्मशान घाटों में से एक गीता कॉलोनी श्मशान घाट से की है। 
गौतम गंभीर के करीबी सूत्रों ने बताया कि पिछले दिनों गंभीर ने इस इलाके का दौरा किया था। उस दौरान वह गीता कॉलोनी श्मशान घाट भी गए थे और उसी के बाद उन्होंने इस श्मशान घाट की व्यवस्थाओं में सुधार करने की पहल की थी। गौतम कुछ पर्यावरणविदों की मदद से यहां हरियाली को बढ़ावा देने के लिए भी प्रयास कर रहे हैं। इसके अलावा उनका मुख्य फोकस श्मशान घाट में सफाई व्यवस्था को दुरुस्त करवाने, यहां लकड़ियों को भीगने से बचाने के लिए नए शेड बनवाने, यहां पानी के कनेक्शन की समस्या को दूर करने, नए प्लैटफॉर्म बनवाने, लोगों के बैठने के लिए बेंच आदि लगवाने जैसे कामों पर है। गौतम ने ट्वीट कर घोषणा की है कि वह बतौर सांसद उन्हें मिलने वाली सैलरी को डोनेट करके उसके जरिए इन सभी कामों को पूरा करवाएंगे।
गौतम ने मंगलवार को इस संबंध में एक ट्वीट कर कहा कि राजनीति मेरे लिए मेरे शहर के लोगों की मदद करने का एक जरिया है। मेरी कोशिश यह सुनिश्चित करने की रहेगी कि एक सांसद के रूप में मुझे मिलने वाले एक-एक पैसे का इस्तेमाल मेरे संसदीय क्षेत्र के लोगों का जीवन बेहतर बनाने में खर्च हो। इसलिए मैंने तय किया है कि मैं अपनी सैलरी को ईस्ट दिल्ली के सभी श्मशान घाटों में व्यवस्थाओं को सुधारने, उन्हें अपग्रेड करने और वहां आने वाले लोगों को बेहतर सुविधाएं मुहैया कराने में खर्च करूंगा। गौतम के करीबी सूत्रों ने बताया कि इसकी शुरुआत उन्होंने गीता कॉलोनी श्मशान घाट से की है। जल्द ही वह अपने संसदीय इलाके के अन्य श्मशान घाटों का भी इसी तरह अपनी सैलरी से पुनरुद्धार करवाएंगे। 

MOLITICS SURVEY

मॉब लिंचिंग किस वजह से हो रही है ?

दाढ़ी
  5.66%
टोपी
  9.43%
राष्ट्रवाद
  84.91%

TOTAL RESPONSES : 53

Raise Your Voice
Raise Your Voice 

Suffering From Problem In Your Area ? Now Its Time To Raise Your Voice And Make Everyone Know