J&K से संबंधित बिलों पर समर्थन के लिए PM मोदी ने विपक्षी दलों का जताया आभार, की अमित शाह के भाषण की तारीफ
Latest News
bookmarkBOOKMARK

J&K से संबंधित बिलों पर समर्थन के लिए PM मोदी ने विपक्षी दलों का जताया आभार, की अमित शाह के भाषण की तारीफ

By Ndtv calender  02-Jul-2019

J&K से संबंधित बिलों पर समर्थन के लिए PM मोदी ने विपक्षी दलों का जताया आभार, की अमित शाह के भाषण की तारीफ

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को जम्मू-कश्मीर पर लाए गए बिलों को पारित कराने में दिए गए समर्थन के लिए दोनों सदनों के सांसदों का धन्यवाद दिया है. साथ ही उन्होंने इस मौके पर दिए गए गृह मंत्री अमित शाह को उनके जबरदस्त भाषण के लिए बधाई दी. उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा, "संसद के दोनों सदनों ने सर्वसम्मति से जम्मू और कश्मीर से संबंधित दो महत्वपूर्ण बिल पारित किए. ये बिल एक अच्छी खासी बहस के बाद पारित किए गए, जो पार्टी लाइन से हटकर सांसदों की भागीदारी से समृद्ध हुए. मैं सभी दलों को उनके समर्थन के लिए धन्यवाद देता हूं. इस तरह का द्विदलीय समर्थन खुशी की बात है." 
अमित शाह ने सोमवार को राज्यसभा में जम्मू-कश्मीर आरक्षण (संशोधन) विधेयक के अलावा अशांत राज्य में राष्ट्रपति शासन बढ़ाने के लिए एक बिल को पेश किया था. इस मौके पर उन्होंने जम्मू-कश्मीर में चहुंमुखी विकास सुनिश्चित करने के प्रयासों और अलगाववादियों को साधने की सरकार की रणनीति समेत विभिन्न मसलों पर एक भाषण भी दिया. बता दें दोनों कानूनों को नवीन पटनायक की बीजू जनता दल और अखिलेश यादव की समाजवादी पार्टी जैसे विपक्षी दलों के समर्थन से पारित कर दिया गया. 

राहुल गांधी को मनाने का दौर जारी, आज कांग्रेस मुख्यालय में अनशन पर बैठेंगे पार्टी के कुछ नेता

एक अन्य ट्वीट में, पीएम मोदी ने जम्मू-कश्मीर आरक्षण (संशोधन) विधेयक को कानून बनाने का मार्ग प्रशस्त करने के लिए सांसदों को धन्यवाद दिया. उन्होंने कहा, "यह कठुआ, सांबा और जम्मू जिलों के सीमावर्ती इलाकों में रहने वालों के लिए न्याय सुनिश्चित करेगा. इन क्षेत्रों के उज्ज्वल और प्रतिभाशाली युवाओं की आकांक्षाएं पूरी होंगी, जो राज्य और हमारे राष्ट्र के लिए बेहतर  है."  कानून का उद्देश्य राज्य की अंतरराष्ट्रीय सीमा के आसपास रहने वाले लोगों को नौकरियों और शिक्षा में आरक्षण का लाभ देना है. 
संसद के उच्च और निम्न सदनों में दिए गए अमित शाह के भाषणों की तारीफ करते हुए प्रधान मंत्री ने कहा कि जो कोई भी "कश्मीर मुद्दे की स्पष्ट समझ चाहता है" उसे उनके भाषणों को सुनना चाहिए.

MOLITICS SURVEY

क्या करतारपुर कॉरिडोर खोलना हो सकता है ISI का एजेंडा ?

हाँ
  46.67%
नहीं
  40%
पता नहीं
  13.33%

TOTAL RESPONSES : 15

Raise Your Voice
Raise Your Voice 

Suffering From Problem In Your Area ? Now Its Time To Raise Your Voice And Make Everyone Know