TMC सांसद नुसरत के मंगलसूत्र पहनने-सिंदूर लगाने पर फतवा जारी, बचाव पर उतरी साध्वी को मौलवी ने कोसा
Latest News
bookmarkBOOKMARK

TMC सांसद नुसरत के मंगलसूत्र पहनने-सिंदूर लगाने पर फतवा जारी, बचाव पर उतरी साध्वी को मौलवी ने कोसा

By Tv9bharatvarsh calender  29-Jun-2019

TMC सांसद नुसरत के मंगलसूत्र पहनने-सिंदूर लगाने पर फतवा जारी, बचाव पर उतरी साध्वी को मौलवी ने कोसा

साध्वी प्राची जो आमतौर पर संप्रदाय विशेष के ख़िलाफ़ अपनी बयानबाजी की वजह से सुर्खियों में रहती हैं एक बार फिर से ख़बरों में आ गई है. हालांकि इस बार वो महिला सांसद का साथ देने की वजह से ख़बरों में हैं लेकिन विषय उनका पसंदीदा ही है.
यह मामला तृणमूल कांग्रेस (TMC) सांसद नुसरत जहां से जुड़ा है. देवबंद के मौलवी ने नुसरत के मंगलसूत्र पहनने और मांग में सिंदूर लगाने को लेकर फतवा जारी किया है. जिसके बाद बीजेपी नेता और विश्व हिंदू परिषद से ताल्लुक रखने वाली साध्वी प्राची नुसरत जहां को समर्थन में उतर आईं हैं.
उन्होंने कहा, ‘मुस्लिम महिला हिंदू से शादी कर ले और हिंदू से शादी करके बिंदी लगाए, बिछुए पहने और मंगलसूत्र पहने तो मुस्लिम मौलवी उसे हराम करार देते हैं. मुझे अफसोस होता है और उनकी बुद्धि पर तरह आता है लेकिन लाखों मुस्लिम हिंदू बेटियों को फंसाकर लव जिहाद में फंसाते हैं और उन्हें बुरका पहनाते हैं तो वह हराम नहीं है? इनके वहां वो जायज हैं.’
उन्होंने आगे कहा कि अगर मुस्लिम मौलवियों को फतवे ही जारी करने थे तो तीन तलाक के समर्थन में करते, लेकिन ऐसा नहीं हुआ. इन्होंने नुसरत जहां के खिलाफ फतवा जारी कर दिया है कि उसने मंगलसूत्र क्यों पहना? अगर यह मौलवी अभी भी नहीं सुधरे तो मुझे लगता है कि यह कुछ समय में पूरे इस्लाम को भी हराम करार दे देंगे.
वहीं साध्वी प्राची के बयान पर देवबंद के दूसरे मौलवी ने कहा, ‘ऐसी औरतें देश में आग लगाने की कोशिश करती हैं. वह बेलगाम होती हैं और जुबान से आग उगलती हैं. उन्हें किसी धर्म की जानकारी नहीं है, इस्लाम तो अमन का पैगाम देता है.’
इससे पहले मुस्लिम धर्मगुरु मुफ्ती असद वासमी ने हिंदू रिति रिवाज से हुई शादी पर कहा, ‘तहकीकात से दौरान पता चला कि उन्होंने जैन से शादी की है. इस्लाम का नुक्तानज़र और इस्लाम यह कहता है कि एक मुसलमान सिर्फ मुसलमान से शादी कर सकता है किसी गैर से नहीं. दूसरी बात ये है कि नुसरत जहां एक फिल्मी एक्टर हैं. ये जो एक्टर होते हैं उनके लिए दीन और धर्म कोई हैसियत नहीं रखता. जो उनको अच्छा लगता है वो करती हैं. इसी का असर संसद में देखने को मिला जब वो सिंदूर लगाकर और मंगलसूत्र पहनकर पहुंची. इस पर बात करना ही बेकार है क्योंकि अपनी जिंदगी का फैसला है हम इस पर कुछ नहीं कर सकते.’

MOLITICS SURVEY

मॉब लिंचिंग किस वजह से हो रही है ?

दाढ़ी
  5.66%
टोपी
  9.43%
राष्ट्रवाद
  84.91%

TOTAL RESPONSES : 53

Raise Your Voice
Raise Your Voice 

Suffering From Problem In Your Area ? Now Its Time To Raise Your Voice And Make Everyone Know