हरियाणा में हर रोज तीन हत्याएं, पांच दुष्कर्म और दस अपहरण की हो रही हैं घटनाएं- सुरजेवाला
Latest News
bookmarkBOOKMARK

हरियाणा में हर रोज तीन हत्याएं, पांच दुष्कर्म और दस अपहरण की हो रही हैं घटनाएं- सुरजेवाला

By Yuvaharyana calender  27-Jun-2019

हरियाणा में हर रोज तीन हत्याएं, पांच दुष्कर्म और दस अपहरण की हो रही हैं घटनाएं- सुरजेवाला

वरिष्ठ कांग्रेस नेता और कांग्रेस के राष्‍ट्रीय मी‍डिया प्रभारी रणदीप सिंह सुरजेवाला ने कहा है कि भाजपा राज में हरियाणा गुंडाराज व संगठित अपराध का गढ़ बन गया है, जहां हर रोज तीन हत्‍याएं, पांच दुष्‍कर्म और दस से अधिक अपहरण की घटनाएं हो रही हैं।
फरीदाबाद में हरियाणा कांग्रेस के प्रवक्ता व नेता विकास चौधरी की दिन-दहाड़े हत्या की कड़ी निंदा करते हुए सुरजेवाला ने कहा की प्रदेश में कानून व्यवस्था तार-तार हो चुकी है, गुंडे-बदमाशों व अराजक तत्वों का बोल बाला है और इस माहौल के लिए सिर्फ खट्टर सरकार जिम्मेदार है। उन्होंने विकास चौधरी पर हमले की निष्पक्ष जांच व दोषियों को सख्त कानूनी सजा की मांग करते हुए कांग्रेस पार्टी व अपनी ओर से पीड़ित परिवार के प्रति संवेदनाएं व्यक्त की।
स्टेट क्राइम रिकार्ड ब्यूरो के अधिकृत आंकड़ों के हवाले से सुरजेवाला ने कहा कि प्रदेश में मई 2018 से अप्रैल 2019 के बीच हत्या के 1,087, दुष्कर्म के 1,681, अपहरण के 3,763, डकैती के 310, भारतीय दंड संहिता के अंतर्गत 1,08,449 संज्ञेय केस दर्ज हुए। यानी प्रदेश में हर रोज लगभग तीन हत्याएं, पांच दुष्‍कर्म, दस से अधिक अपहरण और लगभग एक डकैती की घटनाएं हुईं, जिनसे प्रदेश के बिगड़े हालात का पता चलता है।
मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर द्वारा कांग्रेस नेता की हत्या के चार घंटे बाद भी इस घटना के बारे में जानकारी नहीं होने के बयान पर घोर आपत्ति दर्ज करते हुए सुरजेवाला ने कहा कि यह बयान अत्यंत ही संवेदनहीन, गैर जिम्मेदाराना और सत्ता के नशे में चूर घमंड की पराकाष्ठा है।
यह बेहद ही चिंता का विषय है कि मुख्यमंत्री को पूरे देश मे चर्चा का विषय बने इस मामले की जानकारी नहीं है, जबकि मुख्यमंत्री के पास गृह मंत्रालय भी है और राज्य में अपराध नियंत्रण नहीं कर पाने की उनकी नैतिक जिम्मेदारी है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री खट्टर को नैतिक आधार पर तुरन्त इस्तीफा देना चाहिये।
सुरजेवाला ने कहा कि रिकॉर्ड की बात है कि प्रदेश सरकार सत्ता के घमंड में अपराधियों के खिलाफ एक्शन लेने के बजाय उल्टा अपराधियों को ही संरक्षण दे रही है, जिसका जीता-जागता उदहारण लोकसभा चुनाव के दौरान प्रदेश के मंत्री मनीष ग्रोवर का अपने साथ हिस्ट्रीशीटर को साथ लेकर मतदान केंद्र में गुंडागर्दी करने का है। जब प्रदेश सरकार में मंत्री जैसे जिम्मेदार पदों पर बैठे लोग ऐसा आचरण करेंगे, तो अपराधियों के हौसले बुलंद होना स्वाभाविक ही है।

MOLITICS SURVEY

मॉब लिंचिंग किस वजह से हो रही है ?

दाढ़ी
  5.66%
टोपी
  9.43%
राष्ट्रवाद
  84.91%

TOTAL RESPONSES : 53

Raise Your Voice
Raise Your Voice 

Suffering From Problem In Your Area ? Now Its Time To Raise Your Voice And Make Everyone Know