संसद नहीं पहुँच पाए इस भोज में जाने वाले नेता, जानिए वो कौन-कौन हैं !!
Latest News
bookmarkBOOKMARK

संसद नहीं पहुँच पाए इस भोज में जाने वाले नेता, जानिए वो कौन-कौन हैं !!

By Tv9bharatvarsh calender  30-May-2019

संसद नहीं पहुँच पाए इस भोज में जाने वाले नेता, जानिए वो कौन-कौन हैं !!

सोशल मीडिया पर एक तस्वीर फिर से वायरल हो रही है. पिछली बार ये तस्वीर जनवरी में वायरल हुई थी जब तमाम बड़े नेता ममता बनर्जी के घर खाने पर पहुंचे थे. इनमें से शत्रुघ्न सिन्हा, चंद्रबाबू नायडू, तेजस्वी यादव, हार्दिक पटेल, जिग्नेश मेवानी तो साफ साफ दिख रहे हैं.
Read News वाईएस जगन मोहन रेड्डी ने आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री पद की शपथ ली
अब ये फोटो एक बार फिर वायरल हो रही है. कैप्शन में लिखा जा रहा है कि ममता बनर्जी ने खाने में क्या मिलाया जो इसको खाने वाले सब नेता हार गए. लगभग सभी का कहना ये है कि इस फोटो में दिख रहे सारे नेता बुरी तरह हारे हैं.
सोशल मीडिया की बात इसीलिए गंभीरता से नहीं ली जातीं. इस तस्वीर को ही देखिए, इसमें खाना खाने वाले सारे नेता नहीं हारे हैं. जिग्नेश मेवानी गुजरात में विधायक हैं, वो विधानसभा चुनाव जीते थे. हार्दिक पटेल को भी हारा हुआ कहना गलत है क्योंकि उनके चुनाव लड़ने पर ही रोक लग गई थी. 2015 में पाटीदार आरक्षण आंदोलन के समय विधायक ऋषिकेश पटेल के दफ्तर में तोड़फोड़ और मारपीट को लेकर उन पर केस दर्ज हुआ था. निचली अदालत ने इस पर हार्दिक पटेल को 2 साल कैद की सज़ा सुनाई थी, जिस पर मार्च में हाईकोर्ट ने रोक लगाने से मना कर दिया था. उस फैसले के बाद हार्दिक पटेल का नॉमिनेशन नहीं हो पाया था.
इनकी बात छोड़ दी जाए तो बाकियों का क्या हुआ? कुछ के साथ बुरा हुआ. कुछ के साथ बहुत बुरा. शत्रुघ्न सिन्हा ने इस दावत के कुछ दिन बाद बीजेपी का दामन छोड़ कांग्रेस का पंजा थाम लिया था. पटना से रवि शंकर प्रसाद के खिलाफ ताल ठोक रहे थे. उनकी पत्नी पूनम सिन्हा लखनऊ में समाजवादी पार्टी से राजनाथ सिंह के खिलाफ खड़ी थीं. यहां कांग्रेस के आचार्य प्रमोद कृष्णम को जोड़ना है या नहीं, ये कांग्रेस की हालत देखने के बाद पाठक खुद तय कर लें. शत्रुघ्न सिन्हा सपत्नीक चुनाव हार गए. हारने के बाद ऐसे खामोश हुए हैं कि उनकी रोबीली आवाज कहीं सुनाई नहीं दे रही.
उनके साथ बैठे चंद्रबाबू नायडू का हाल न ही पूछो तो बेहतर है. एग्जिट पोल रिजल्ट्स आने से भी पहले वो लखनऊ से दिल्ली तक बड़े नेताओं से मिलने लगे थे. केंद्रीय राजनीति में भारी दखल देने का उनका प्लान फाइनल रिजल्ट्स में चौपट हो गया. आंध्र प्रदेश भी हाथ से चला गया. वहां भी मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देना पड़ा.
अब तेजस्वी यादव के ताजा हालात. उनके पिताजी लालू प्रसाद यादव ने मेहनत से आरजेडी पार्टी खड़ी की थी. जेल गए तो छोटे बेटे तेजस्वी यादव को सौंप गए. बड़े बेटे तेज प्रताप यादव ने ऐसा चौपट किया कि बिहार की पार्टी का बिहार से सूपड़ा साफ हो गया. पूरे चुनाव के दौरान खूब तांडव किया और जब सब धूल में मिल गया तो कह रहे हैं कि जो तेजस्वी का साथ नहीं दे रहा है वो आरजेडी ‘छोर’ दे.

MOLITICS SURVEY

क्या कांग्रेस का महागठबंधन से अलग रह के चुनाव लड़ने की वजह से बीजेपी को पूर्ण बहुमत मिला है?

हाँ
  51.35%
नहीं
  43.24%
अनिश्चित
  5.41%

TOTAL RESPONSES : 37

Raise Your Voice
Raise Your Voice 

Suffering From Problem In Your Area ? Now Its Time To Raise Your Voice And Make Everyone Know