दलित एवं महिलाओं पर अत्याचार के विरोध में भाजपा का धरना प्रदर्शन, राज्यपाल को सौंपा ज्ञापन
Latest News
BOOKMARK

दलित एवं महिलाओं पर अत्याचार के विरोध में भाजपा का धरना प्रदर्शन, राज्यपाल को सौंपा ज्ञापन

By Bhaskar   12-May-2019

दलित एवं महिलाओं पर अत्याचार के विरोध में भाजपा का धरना प्रदर्शन, राज्यपाल को सौंपा ज्ञापन

भारतीय जनता पार्टी ने आज प्रदेशाध्यक्ष मदनलाल सैनी के नेतृत्व में प्रदेश में हो रहे महिलाओं एवं अनुसूचित जाति वर्ग एवं जनजाति वर्ग पर हो रहे अत्याचारों के विरोध में हजारों कार्यकर्ताओं ने रविवार को प्रदेश मुख्यालय से सिविल लाइन फाटक तक गहलोत सरकार के खिलाफ नारों के साथ रैली निकालकर विरोध प्रदर्शन किया। पुलिस बैरिकेट होने के कारण भाजपा नेता व कार्यकर्ता सिविल लाइंस की तरफ नहीं जा सके। ऐसे में उन्होंने वहीं बैठकर धरना प्रदर्शन दिया। फिर प्रदेशाध्यक्ष मदनलाल सैनी के साथ प्रतिनिधि मंडल ने राजभवन में जाकर राज्यपाल को ज्ञापन सौंपा।
प्रदेशाध्यक्ष सैनी ने कहा- प्रदेश में लोकतांत्रिक कांग्रेस सरकार का कोई अस्तित्व नहीं बचा है ना ही अपराधियों में कोई भय है
  1. विरोध प्रदर्शन में पूर्व प्रदेशाध्यक्ष एवं पूर्व मंत्री अरूण चतुर्वेदी, विधायक कालीचरण सराफ, विधायक नरपत सिंह राजवी, विधायक रामलाल शर्मा, विधायक अशोक लाहोटी, पूर्व मंत्री रामकिशोर मीणा, प्रदेश उपाध्यक्ष सुनील कोठारी, महिला आयोग पूर्व अध्यक्ष सुमन शर्मा, प्रदेश प्रवक्ता मुकेश पारीक, जितेन्द्र श्रीमाली, पंकज मीणा, महिला मोर्चा अध्यक्ष कविता मलिक, प्रदेश महामंत्री मंजू शर्मा शामिल थी।
  2. इसके अलावा पूर्व विधायक कैलाश वर्मा, प्रदेश मीडिया प्रभारी विमल कटियार, प्रदेश चुनाव सम्पर्क प्रमुख नाहर सिंह माहेश्वरी, जिलाध्यक्ष जयपुर देहात दक्षिण रामानंद गुर्जर, पूर्व विधायक कन्हैया लाल मीणा, पूर्व जयपुर शहर अध्यक्ष संजय जैन एवं शैलेन्द्र भार्गव, भाजयुमो अध्यक्ष अशोक सैनी, उप-महापौर मनोज भारद्वाज, पूर्व महापौर शील धाभाई एवं मीडिया संपर्क विभाग प्रमुख आनंद शर्मा मौजूद रहे।
     
  3.  
    प्रदेशाध्यक्ष मदनलाल सैनी ने बताया कि प्रदेश में कानून एवं प्रशासन व्यवस्था चैपट हो चुकी है व अपराधी बिना किसी भय के जघन्य अपराधो को अंजाम दे रहे है। प्रदेश में दलितों व महिलाओं विशेषकर दलित महिलाओं के विरूद्ध बलात्कार की घटना आम हो गई है। 26 अप्रैल को अलवर जिले के थानागाजी क्षेत्र में बदमाशों ने बेखौफ होकर शर्मनाक घटना को अंजाम दिया।
     
  4.  
    कांग्रेस सरकार ने अपने चुनावी फायदे के लिए प्रशासन के साथ मिलकर घटनाओं को दबाने का कुत्सित प्रयास किया है। सैनी ने कहा कि घटनाओं के अतिरिक्त कांग्रेस की वर्तमान शासन के दौरान महिलाओं एवं दलित महिलाओं तथा अनुसूचित जाति व जनजाति वर्ग पर हुए अत्याचारों की एक लम्बी सूची है। इन सभी तथ्यों से स्पष्ट है कि प्रदेश में लोकतांत्रिक कांग्रेस सरकार का कोई अस्तित्व नहीं बचा है ना ही प्रशासन का कोई भय अपराधियों में शेष है।

MOLITICS SURVEY

क्या लोकसभा चुनाव 2019 में नेता विकास के मुद्दों की जगह आरोप-प्रत्यारोप की राजनीति कर रहे हैं ??

हाँ
नहीं
अनिश्चित

TOTAL RESPONSES : 31

Raise Your Voice
Raise Your Voice 

Suffering From Problem In Your Area ? Now Its Time To Raise Your Voice And Make Everyone Know