संवैधानिक संस्थाओं के तथ्य व अनुमान में किसका महत्व?