युवाओं के लिए खतरे की घंटी, 7 लाख भारतीयों की जा सकती है नौकरी
Latest Article

युवाओं के लिए खतरे की घंटी, 7 लाख भारतीयों की जा सकती है नौकरी

Author:   22 Dec 2017

युवाओं के लिए खतरे की घंटी, 7 लाख भारतीयों की जा सकती है नौकरी

दुनिया में हमेशा से इनोवेशन होते रहे हैं. हर दशक कुछ नई टेक्नोलॉजी लेकर आता है....और इसका सीधा असर लोगों की जिंदगी पर होता है. इस वक्त दुनिया ऑटोमेशन की तरफ बढ़ रही है...यानी एक ऐसा युग जब आने वाले दिनों में तमाम ऐसे काम जो अब तक इंसान करते थे, वो रोबोट या मशीनें करेंगी. वैसे आप फिल्मों में बहुत पहले से रोबोट्स को देखते आ रहे होंगे. फाइटिंग के सीन हों..या स्पेस की लड़ाइयां...ये रोबोट्स आपको ताली बजाने पर मजबूर कर देते हैं. लेकिन अब इन्हीं रोबोट्स ने आपकी जिंदगी में दस्तक दे दी है और ये आपके लिए चुनौती बनने वाले हैं. ये रोबोट्स अब काम निपटाने लगे हैं. सामान लाने-ले जाने का काम कर रहे हैं....यहां तक कि रोबोट्स बैंकों में भी आपकी मदद करने लगे हैं. इन दिनों ये रोबोट जो काम कर रहे हैं, उन्हें देखकर आपको हैरानी होगी. ये रोबोट्स कुछ इसी तरह से काम कर रहे हैं, जैसे आप करते हैं...और जाहिर सी बात है जब काम मशीनों से होगा, तो आपकी मुश्किल बढ़ेगी...आने वाले दिनों में ये रोबोट्स आपकी नौकरी भी छीन सकते हैं. ऐसे में जरूरी है कि ऑटोमेशन के इस दौर को आप ध्यान से समझें. 80 करोड़ लोग बेरोजगार हो सकते हैं अब सवाल है कि आखिर हम DNA MONEY में ऑटोमेशन का मुद्दा क्यों उठा रहे हैं. और क्यों आपको अपने लिए, अपने परिवार के लिए और आने वाली पीढ़ी के लिए ऑटोमेशन को जानना जरूरी है. ऑटोमेशन को लेकर नवंबर में ही McKinsey Global Institute ने एक रिपोर्ट दी है. इस रिपोर्ट के मुताबिक ऑटोमेशन की वजह से 2030 तक दुनिया में 80 करोड़ लोग बेरोजगार हो सकते हैं. भारत में 2022 तक 7 लाख लोगों की नौकरी जा सकती है. McKinsey Global Institute ने 86 देश और 800 सेक्टर्स पर सर्वे के बाद ये रिपोर्ट तैयार की है. IT और बैंकिंग सेक्टर में सबसे ज्यादा खतरा अब ज़रा इस बात को समझने की जरूरत है कि ऑटोमेशन से किस-किस सेक्टर्स में नौकरियां का खतरा है, हालांकि इन ख़तरों के बाद DNA Money मे हम आपको ये भी बताएंगे कि अगर आप इन सेक्टर्स में नौकरी कर रहे हैं, तो आपको क्या ऐसा करने की जरूरत है कि आपकी नौकरी ना जाए. ऑटोमेशन, IT और बैंकिंग सेक्टर में सबसे तेजी से बढ़ रहा है. इसके बाद इंजीनियरिंग, ऑटोमोबाइल और हेल्थकेयर सेक्टर में ऑटोमेशन तेजी से बढ़ने की उम्मीद है. यानी इन सेक्टर्स की नौकरियां रोबोट्स के जरिए सबसे पहले जाएंगी या काफी हद तक प्रभावित होंगी. लीडिंग रिसर्च कंपनी.. HFS रिसर्च के मुताबिक 2016 में भारत में IT और BPO सेक्टर में काम करने वालों की संख्या करीब 24 लाख थी, जबकि ऑटोमेशन आने के बाद 2022 तक ये संख्या करीब 17 लाख के आसपास तक सिमट सकती है. अब आता है अहम सवाल...अगर आने वाले कुछ सालों में ऑटोमेशन की वजह से आपकी नौकरी पर ख़तरा आता है, तो आप अपनी नौकरी बचा कैसे सकते हैं? अपनी नौकरी बचाए रखने या नई नौकरी देखने के लिए आपका मल्टी स्किल और मल्टी टास्किंग होना जरूरी है. यानी आपको खुद को इस तरह तैयार करना होगा, जिससे आप एक साथ कई काम कर सकें. McKinsey Global Institute के मुताबिक अगले 13 साल में लोगों को नई चीजें सीखनी होंगी, खुद को समय के साथ अपडेट करना होगा. 2030 तक करीब 37.6 करोड़ लोगों को नए स्किल्स सीखने होंगे. हालांकि, कुछ नौकरियां ऐसी भी हैं, जिन पर ऑटोमेशन के कारण फिलहाल कोई असर नहीं होगा. जिन नौकरियों में People मैनेजमेंट की जरूरत पड़ती है. मसलन ईवेंट कॉर्डिनेटर, कस्टरमर सर्विसेज...इसी तरह Expertise वाले जो फील्ड हैं. जैसे टीचर हैं, CA हैं इनकम टैक्स जैसे डिपार्टमेंट हैं...उनमें नौकरियों की दिक्कत नहीं होगी. इसके अलावा वो सेक्टर जहां Social कम्युनिकेशन होता है...या सीधे लोगों से इंटरेक्शन होता है, उनमें भी जॉब जाने की संभावनाएं कम हैं.

MOLITICS SURVEY

क्या लोकसभा चुनाव 2019 में नेता विकास के मुद्दों की जगह आरोप-प्रत्यारोप की राजनीति कर रहे हैं ??

हाँ
नहीं
अनिश्चित

TOTAL RESPONSES : 31

Caricatures
See more 
Political-Cartoon,Funny Political Cartoon
Political-Cartoon,Funny Political Cartoon

Suffering From Problem In Your Area ? Now Its Time To Raise Your Voice And Make Everyone Know